Tandav : अली अब्बास जफर के घर में घुस गई योगी की पुलिस … योगी के तांडव से बॉलीवुड में हड़कंप

0
355

तांडव वेब सीरीज में हिंदू आस्थाओं से खिलवाड़ करने वाले, दलितों का अपमान करने वाले, सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश करने वाले डायरेक्टर अली अब्बास जफ़र के बुरे दिन शुरू हो गए हैं तथा योगी आदित्यनाथ की यूपी पुलिस अली अब्बास जफ़र के घर में घुस गई है तथा साफ़ कर दिया है कि अली अब्बास की माफ़ी से काम नहीं चलेगा बल्कि सजा तो मिलकर रहेगी.

हिन्दुओं की भावनाओं पर तांडव करना अली अब्बास जफ़र को भारी पड़ने वाला है तथा संभव है सोमनाथ भारती की तरह अली अब्बास जफ़र भी जल्द ही यूपी की जेल की सलाखों के पीछे पहुँच जाएगा. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस अली अब्बास जफ़र के घर में घुस गई है तथा उसको साफ़ शब्दों में कह दिया है कि आपने तांडव के नाम पर जो रायता फैलाया है, कला के नाम हिंदू आस्थाओं पर प्रहार किया है, फ्रीडम ऑफ़ आर्ट्स के नाम पर जातीय व सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की जो कोशिश की है, उसका खामियाजा भुगतना ही पड़ेगा, माफी मांगने से काम नहीं चलेगा. यूपी पुलिस ने मुंबई में अली अब्बास जफ़र के घर में घुसकर कह दिया है कि जल्दी लखनऊ आओ तथा हाजिर हो जाओ.

खबरों की मानें तो पुलिस अली अब्बास जफर को पूछताछ के लिए नोटिस देने उसके गई है. पुलिस इस मामले में काफी तेजी से काम कर रही है. तांडव मेकर्स के खिलाफ जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है. जांच अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने बताया कि अली अब्बास जफर के घर पर वो नोटिस देने गए थे, लेकिन उन्हें वहां कोई नहीं मिला. घर पर ताला लगा हुआ था, जिसके बाद पुलिस ने नोटिस घर पर चिपका दिया है. इस नोटिस के अनुसार अली अब्बास जफर को 27 जनवरी को वो पूछताछ के लिए लखनऊ में पुलिस के सामने पेश होना होगा.

आपको बता दें कि तांडव की पूरी टीम पर जब योगी आदित्यनाथ ने असली तांडव किया तो अली अब्बास जफ़र सहित सभी लोगों की सिट्टी पिट्टी गुम हो गई तथा अब वह बचाव का रास्ता खोज रहे हैं. अली अब्बास जफ़र व तांडव को डर है कि योगी की यूपी पुलिस कहीं उन्हें गिरफ्तार न कर ले, इसके लिए वह बचने की जुगाड़ लगा रहे हैं. इसी क्रम में कल ही वेबसीरीज तांडव की टीम को बॉम्बे हाई कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी थी. इसे ट्रांजिट बेल बताया जा रहा है. इस की वजह से यूपी पुलिस तुरंत टीम को फिलहाल गिरफ्तार नहीं कर सकेगी. डायरेक्टर अली अब्बास जफर, एमेजॉन की कंटेंट हेड अपर्णा पुरोहित, प्रोड्यूसर हिमांशु मेहरा और लेखक गौरव सोलंकी को ये राहत मिली है. ये अंतरिम राहत तीन हफ्ते के लिए दी गई है. जांच के बाद पुलिस केस फाइल कर सकेगी.

योगी के तांडव से बचने के लिए अली अब्बास जफ़र ने माफी भी मांग ली है लेकिन लग रहा है कि जफ़र व् तांडव की टीम योगी के असली तांडव से बच नहीं पाएंगे. इन्हें हाईकोर्ट ने भले ही अंतरिम जमानत दे दी हो लेकिन यूपी पुलिस भी मूड में है तथा अली अब्बास को लखनऊ तलब कर दिया है. अब देखना ये है कि अली अब्बास जफ़र 27 जनवरी को लखनऊ पुलिस के सामने पेश होते हैं या नहीं. वहीं आम जनता उम्मीद कर रही है कि तांडव की आड़ में हिन्दू आस्थाओं का दोहन करने वाले अली अब्बास जफ़र व् पूरी टीम पर योगी की सत्ता रहम नहीं दिखाएगी तथा सजा दिलाकर ही रहेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here