Tanishq का एड तो छलावा है … वास्तविकता तो वो है जो लखनऊ में अंजना से आयशा बनी महिला के साथ हुई है

0
584
ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क के खिलाफ इस समय सोशल मीडिया पर जबरदस्त अभियान चल रहा है. इसका कारण ‘तनिष्क ज्वैलरी’ का एक नया विज्ञापन वीडियो है जिसमें एक गर्भवती हिन्दू महिला की मुस्लिम परिवार में गोदभराई की रस्म दिखाई गई थी. इस वीडियो में एक हिन्दू महिला की गोद भराई की रस्म को दिखाया गया है जिसमें महिला हिंदू है लेकिन उसकी शादी मुस्लिम परिवार में हुई होती है.
बैकग्राउंड में एक महिला कहती है, “रिश्ते हैं कुछ नए-नए, धागे हैं कुछ कच्चे-पक्के। अपने बल से इन्हें सहलाएँगे, प्यार पिरोते जाएँगे. एक से दूजा सिरा जोड़ देंगे, एक बँधन बनते जाएँगे.” इस वीडियो में भरा-पूरा मुस्लिम परिवार दिखता है, जहाँ बुजुर्गों से लेकर बच्चों तक गर्भवती महिला को सरप्राइज देने के लिए बगीचे में इन्तजार कर रहे हैं. अंत में वो महिला अपनी सास से पूछती है, “ये रस्म तो आपके घर में होती भी नहीं है न?” इस पर उसकी सास उसे जवाब देती है, “पर बिटिया को खुश रखने की रस्म तो हर घर में होती है न?“
तनिष्क ज्वैलर्स के इस वीडियो पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाकर हिंदू राष्ट्रवादी लोग तनिष्क के बॉयकॉट की मुहिम चला रहे हैं. इसके बाद में कथित कूल ड्यूड फेमिनिस्ट, छद्म सेक्यूलर बुद्धिजीवी व लेफ्टिस्ट जिहादी लोग तनिष्क के इस वीडियो एड को क्यूट व शानदार बता रहे हैं तथा इसका विरोध करने वालों पर निशाना साध रहे हैं.
लेकिन मेरे मुताबिक़ तनिष्क का जो एड है वो हकीकत नहीं है वो एक छलावा है. हकीकत तो वो घटना है जो आज ही उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में घटित हुई है जहाँ अंजना तिवारी नामक एक महिला जो धर्म बदलकर आयशा बन गई, तथा जिसके आज खुद को लखनऊ विधान भवन के सामने खुद को आग लगा ली. तनिष्क की ऐड के बॉयकॉट के बीच आज लखनऊ में हुई ये ऐसी घटना है जो तनिष्क के एड की वास्तविक हकीकत बयां करती है..!!
जानकारी के मुताबिक़, लखनऊ में जिस महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया तथा खुद को ज़िंदा जला लिया वह महिला कभी अंजना तिवारी हुआ करती थी. अखिलेश तिवारी नामक व्यक्ति से धूमधाम से शादी हुई थी. बेहद सुखी जीवन जी रही थी. फिर किसी बात पर उसकी अपने पति अखिलेश से खटपट हो गई. तभी अंजना जी को आसिफ नामक मुस्लिम से प्यार हो गया. अंजना अपना घर छोड़कर उस मुस्लिम की पत्नी बन गईं तथा धर्म परिवर्तन करके अपना नाम आयशा रख लिया.
कुछ महीने तक तो आसिफ ने अंजना जी को काफी अच्छे से रखा. आसिफ ने उसी तरह का प्रेम दिखाया जैसा तनिष्क के एड में दिखाया गया है, अंजना को आयशा बनाकर निकाह किया, शरीर से खेला फिर अरब अरब भाग गया. आरोप है कि इसके बाद दहेज के लिए सास और ननद आयशा बनी अंजना को खूब पीटने लगीं. अंजना को समझ आ गया कि जिन लोगों ने उससे कहा था कि लव जिहाद कुछ नहीं होता है, वो लोग गलत थे. लव जिहाद की भयावहता अंजना को सिर्फ दिख ही नहीं रही बल्कि खुद लव जिहाद की प्रताड़ना को वह झेल रही थी.
फिर वही हुआ जो होना था. आयशा बनी अंजना अपनी असली मंजिल पर पहुंच गईं, यानी न्याय के लिए लखनऊ विधान भवन के सामने जाकर खुद को आग लगा ली. ये घटना उन सुंदरियों को भी देखनी चाहिए, उन कूल ड्यूड युवतियों को भी इस घटना के बारे में जानना चाहिए, इस घटना को उन सेक्यूलरों को भी देखना चाहिए जो तनिष्क के एड को क्यूट व प्यारा बता रहे हैं.
साफ़ है कि- तनिष्क का ऐड एक छलावा है, इसकी असली सच्चाई तो लखनऊ में हुई घटना है..!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here