दंगाइयों ने दिलबर नेगी के हाथ पैर काटे फिर झौंक दिया था आग में… दिल्ली दंगों का वो सच जो कंपा देगा आपको

0
106
फरवरी 2020 में नागरिकता संशोधन अधिनियम CAA के विरोध की आड़ में देश की राजधानी दिल्ली में मजहबी उन्मादियों तथा अर्बन नक्सलियों द्वारा जो दंगे भड़काए गए थे, उसे लेकर बड़ी खबर सामने आई है. ये खबर है, जिसकी सच्चाई जानकर आपकी रूह काँप उठेगी. जब उन्मादियों द्वारा दिल्ली में हिंसा का नंगा नाच किया जा रहा था, उस समय दिलबर नेगी नामक हिंदू युवक के साथ इन दंगाइयों द्वारा जो क्रूरता की गई थी, वो सिर्फ ISIS या तालिबानी राज में ही देखने को मिलती है.
मीडिया वेबसाइट, ऑपइंडिया ने इस संबंध में उस समय ही इस खबर को प्रमुखता से छापा था. खबर के मुताबिक़, दिलवर सिंह नेगी को 23 फ़रवरी की शाम दंगाइयों ने बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया था. दिलबर सिंह नेगी उत्तराखंड के पौड़ी जिले स्थित थलीसैण ब्लॉक से सम्बन्ध रखते थे. उनके करीबी श्याम सिंह के मुताबिक़, 23 फ़रवरी की शाम कुछ दंगाई शाहदरा इलाके में शोर मचाते हुए घुसे थे.
श्याम सिंह ने मुताबिक़, हिंसा का नंगानाच कर रहे दंगाइयों ने अचानक से दिलबर नेगी को अपना पहला निशाना बनाया. दंगाइयों ने बेहद ही क्रूरता से उनके हाथ-पैर काट दिए. फिर पास की दुकान में लगी आग में झोंक दिया था, जिससे दिलबर नेगी की तड़प-तड़प कर मौत हो गई थी. आपको बता दें कि हाल ही में दिल्ली पुलिस ने राजधानी में हुए दंगों को लेकर चार्जशीट दाखिल की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here