योगी का UP बना Samsung की पहली पसंद… चीन से अपना कारोबार समेटकर नॉएडा में करेगा स्थापित

0
328

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश में निवेश की दिशा में किए जा रहे प्रयासों को सफलता मिलती नजर आ रही है. यही वजह है कि दुनिया की दिग्गज आईटी कंपनियों में शामिल Samsung उत्तर प्रदेश में मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करने जा रही है. सैमसंग की यह यूनिट इससे पहले चीन में स्थापित थी. अब यूपी में इसकी स्थापना से प्रदेश में करीब 4825 करोड़ रुपए का निवेश होगा.

सैमसंग द्वारा नोएडा में लगायी जाने वाली इस यूनिट से करीब डेढ़ हजार लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलेगा. इस यूनिट के काम शुरू करने के साथ ही भारत के हिस्से में एक उपलब्धि भी जुड़ जाएगी. दरअसल भारत, ओएलईडी तकनीक से बने मोबाइल डिस्प्ले का उत्पादन करने वाला दुनिया का तीसरा देश बन जाएगा. सैमसंग के यूपी में भारी-भरकम निवेश करने से राज्य सरकार काफी उत्साहित है और यही वजह है कि सरकार ने निवेश के बदले सैमसंग को विशेष प्रोत्साहन देने का फैसला किया है.

शुक्रवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में सरकार ने इस संबंध में कई फैसले लिए हैं. इसमें ”उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण नीति-2017” (Uttar Pradesh Electronics Manufacturing Policy-2017) के तहत सरकार 5 साल में कंपनी को भूमि हस्तांतरण पर स्टाम्प ड्यूटी में छूट समेत करीब 250 करोड़ रुपए की छूट देगी. मंत्रिपरिषद के फैसले के अनुसार, मेसर्स सैमसंग डिस्प्ले नोएडा प्राइवेट लिमिटेड को उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति-2017 के अंतर्गत पूंजी उपादान, भूमि हस्तान्तरण पर स्टांप ड्यूटी में छूट की अनुमन्यता होगी.

इसके अलावा सैमसंग को केन्द्र सरकार की योजना ”स्कीम फॉर प्रोमोशन ऑफ मैन्यूफैक्चरिंग ऑफ इलेक्टानिक कंपोनेंट्स एंड सेमीकंडक्टर्स” (Scheme for Promotion of manufacturing of Electronic Components and Semiconductors) के तहत भी करीब 460 करोड़ रुपए का वित्तीय प्रोत्साहन मिलेगा. जानकारी के मुताबिक, चीन से विस्थापित होकर उत्तर प्रदेश आ रही इस परियोजना को पूंजी उपादान के लिए भारत सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार स्थिर पूंजी निवेश में पुरानी मशीनों की लागत को भी अनुमन्य किया जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here