Home राज्य दिल्ली एनकाउंटर के बाद दिल्ली पुलिस की पकड़ में आया रोहित चौधरी गिरोह...

एनकाउंटर के बाद दिल्ली पुलिस की पकड़ में आया रोहित चौधरी गिरोह का कुख्यात बदमाश अरुण नागर

0
330

 

रोहित चौधरी के गिरोह के बदमाश पर हत्या सहित सात मुकदमें दर्ज हैं। कई मामलों में वह वांछित था। पुलिस द्वारा चलाई गई एक गौली बदमाश के पैर में लगी जिससे वह घायल हो गया। घायल बदमाश को एम्स ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार की रात मुठभेड़ के बाद कुख्यात बदमाश अरुण नागर को दबोच लिया। रोहित चौधरी के गिरोह के बदमाश पर हत्या सहित सात मुकदमें दर्ज हैं। कई मामलों में वह वांछित था। पुलिस द्वारा चलाई गई एक गौली बदमाश के पैर में लगी, जिससे वह घायल हो गया। घायल बदमाश को एम्स ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। वहां, उसका इलाज चल रहा है। वहीं, बदमाश की चलाई गोली एक एसआई को लगी, लेकिन बुलेटप्रूफ जैकेट पहने होने के कारण वह बाल बाल बच गए। पुलिस ने घटना स्थल से एक पिस्टल, 10 कट्टा व करातूस सहित एक आइ-20 कार बरामद की है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

सब इंस्पेक्टर की छाती पर चलाई गोली

कार रोकने के बाद अरुण ने सब इंस्पेक्टर हरबीर सिंह की छाती पर गोली चला दी। हालांकि राहत की बात यह रही कि उन्होंने बुलेट प्रूफ जैकेट पहनी हुई थी। एनकाउंटर के दौरान अरुण ने 2 राउंड गोली चलाई थी जबकि पुलिस की तरफ से 5 राउंड गोलियां चलीं। इसी बीच क्राइम ब्रांच की टीम ने बदमाश के पैर में गोली मारकर उस पर काबू पाया और अस्पताल ले गए। पुलिस ने अरुण की गाड़ी से 10 देसी पिस्टल और एक सेमी ऑटोमैटिक पिस्टल बरामद की है। शुरुआती जांच में लग रहा है कि ये सारी देसी पिस्टल यूपी के पंचायत चुनाव के लिए बदमाशों को सप्लाई की जानी थीं।

रोहित को भी पिस्टल सप्लाई करता था अरुण
अरुण गुरुवार को पकड़े गए बदमाश रोहित के लिए भी पिस्टल सप्लाई करता था। उसे इससे पहले 2014 में पकड़ा गया था लेकिन बाद में यह फरार हो गया था। अरुण तभी से वॉन्टेड था। पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, इसके ऊपर हत्या, डकैती, लूटपाट के दर्जनों मुकदमे दर्ज है। पुलिस ने बताया कि अरुण के इलाज के बाद इससे और गुरुवार को पकड़ में आए इसके साथियों रोहित चौधरी और टीटू से पूछताछ होगी। इन बदमाशों से पूछताछ में पता करने की कोशिश की जाएगी कि ये कहां हथियार सप्लाई करने वाले थे और इनका प्लान क्या था।
                                                                                                      DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here