रमजान में इफ्तारी तो नवरात्रि में फलाहारी क्यों नहीं? सुदर्शन वाहिनी 4 वर्षों से चला रही है अभियान

0
173

आजादी के बाद से ही जिस तरह से मुस्लिम तुष्टीकरण तथा वोटबैंक की राजनीति के लिए इस्लामिक त्यौहार रमजान के महीने में सियासी दलों द्वारा इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जाता है उसे लेकर हिन्दू संगठनों ने मोर्चा खोल दिया है. हिन्दू हितों के लिए हमेशा अग्रिम पंक्ति में खड़े होने वाले प्रखर हिन्दू राष्ट्रवादी संगठन सुदर्शन वाहिनी ने रमजान में इफ्तारी की तर्ज पर नवरात्री में फलाहारी कार्यक्रम करने की घोषणा की है.

सुदर्शन वाहिनी इस कार्यक्रम के साथ ही जनता को इस बात के लिए भी जागरूक करेंगे कि वह अपने नेताओं से ये प्रश्न करें कि अगर रमजान में इफ्तार पार्टी आयोजित की जाती है तो नवरात्रि में सियासतदानों द्वारा फलाहारी का आयोजन क्यों नहीं किया जाता? सुदर्शन वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आजाद विनोद ने कहा है कि आजादी के बाद से हिन्दू समाज को राजनेताओं ने ठगने का काम किया है, हिन्दू आस्थाओं का दमन किया है तथा ये कार्य अभी तक जारी है.

आजाद विनोद ने कहा है कि अब हिन्दू समाज को और नहीं ठगने दिया जाएगा तथा हिन्दू समाज अपने हक के लिए न सिर्फ लड़ेगा बल्कि विजय भी प्राप्त करेगा. आजाद विनोद ने कहा कि राजनेता मुस्लिम वोटबैंक के लिए रमजान में तो इफ्तार पार्टी करते हैं लेकिन नवरात्री पर फलाहार नहीं करते, आखिर क्यों? आखिर हिन्दू समाज के ये भेदभाव क्यों होता है और कब तक होगा? आजाद विनोद ने कहा कि सुदर्शन वाहिनी इन छद्म सेक्यूलर राजनेताओं को जवाब देगी तथा देशभर के विभिन्न कोनों में अपने क्रांतिवीरों के सहयोग से नवरात्री में फलाहार का आयोजन करायेगी.

आजाद विनोद ने कहा कि आज भारत मे सभी नेताओं द्वारा आजादी के बाद 70 सालों के बाद भी सिर्फ रमजान में इफ्तारी देते सुना होगा, हमको इससे कोई दिक्कत नही है, लेकिन दिक्क्क्त वहां होती है जब देश के सबसे बहुसंख्यक समाज (हिन्दुओ) के साथ अलग तथा सौतेला व्यवहार किया जाता है. हमें दिक्क्त इस बात से होती है कि अगर रमजान में इफ्तारी दी जा सकती है तो नवरात्री में फलाहारी क्यों नहीं आयोजित की जा सकती?

आजाद विनोद ने कहा कि इसी तुष्टीकरण के खिलाफ सुदर्शन वाहिनी पिछले 4 वर्षों से देशभर में विभिन्न जगहों पर नवरात्रों में फलाहारी का आयोजन करती है. आजाद विनोद ने कहा कि फलाहारी के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रम में सुदर्शन वाहिनी के क्रांतिवीर समाज मे फैल रहे हिन्दुओं के साथ इस प्रकार के भेद भाव से अवगत करवाते है तथा  धर्मपथ पर चलते हुए राष्ट्ररक्षा के लिए हमेशा समर्पित रहने का संकल्प लेते हैं.

आजाद विनोद ने कहा कि उनका लक्ष्य हिन्दू समाज में ये जागरूकता पैदा करना है कि अगर अवः अब भी नहीं जागे तो आने वाला समय उनके लिए काफी भयावह होने वाला है. आज की राजनीति पूरी तरह से एक विशेष समुदाय के इर्द गिर्द घूमकर रह गयी है तथा हिन्दू समाज अपने ही देश में असहाय बनकर रह गया है. इसे ही रोकने के लिए हमने नवरात्री में फलाहारी कार्यक्रम अभियान 4 वर्ष पहले शुरू किया था जो अब एक क्रांति का रूप ले चुका है.

विनोद ने कहा कि संगठित हिन्दू शक्ति के सहयोग से उनका तथा सुदर्शन वाहिनी का ये अभियान सफल होगा तथा राजनेता आगे चलकर या तो ये तुष्टिकरण की राजनीति के तहत होने वाले कार्यक्रम बंद होंगे या फिर राजनीति का मुख्य केंद्र हिन्दू समाज होगा. उन्होंने अन्य लोगों से भी अपील की है कि वह भी इस अभियान का हिस्सा बनें तथा अपने क्षेत्र में कार्यक्रम करवाएं. आपको बता दें कि सुदर्शन वाहिनी के इस अभियान को न सिर्फ व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है तथा अन्य हिन्दू संगठन भी रमजान इफ्तारी के जवाब में नवरात्रि फलाहारी कार्यक्रम आयोजित करा रहे हैं.

हमारा अभियान- वोट बैंक की खातिर रमजान में इफ्तारी तो नवरात्रो में फलाहार क्यों नहीं ? हमारे नेता जवाव दें कि क्या वोट सिर्फ मुस्लिम देते है हिन्दू नही ???
सुदर्शन वाहिनी इस वर्ष भी रमजान में इफ्तारी में जवाब में नवरात्रि में फलाहारी करवा रही है, आप भी इसमें सुदर्शन वाहिनी का आर्थिक सहयोग कर सकते हैं. आप सबका साथ हमारे लिए ऊर्जा का कार्य करेगा.

Name : Sudarshan Vahini
Account No : 008588700000365, IFSC कोड: YESB0000085, Branch Noida @upi/phopay/paytm: 8130156606 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here