कुरुक्षेत्र के एलएनजेपी अस्‍पताल के लेंटर का प्‍लास्‍टर गिरा, दो माह में दूसरी बार ऐसी घटना,मरीजों व परिजनों के सिर पर खतरा मंडरा रहा

0
142

 

कुरुक्षेत्र. एलएनजेपी अस्पताल के आइसाेलेशन वार्ड में आने वाले मरीजों व उनके परिजनों के सिर पर अभी भी खतरा मंडरा रहा है। अस्पताल की जिस जर्जर इमारत को आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है उसके अंदर और बाहर दोनों जगह प्लास्टर के टुकड़े टूट कर अभी भी गिर रहे हैं। सोमवार रात को भी इमारत के बाहरी छज्जे से प्लास्टर का बड़ा टुकड़ा अपने आप टूटकर नीचे गिर गया। गनीमत रही कि नीचे उस समय कोई नहीं था। लगातार प्लास्टर टूटने की घटनाओं पर संज्ञान लेते हुए अस्पताल प्रशासन ने तो पीडब्ल्यूडी को मरम्मत के लिए लिख दिया है, लेकिन इस पर अभी तक कोई कदम नहीं उठाए गए हैं।

मामला 11 जनवरी 2021 का है

जब एलएनजेपी अस्पताल की पुरानी इमारत में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में छत से अचानक प्लास्टर गिर गया था। यह घटना कमरा नंबर 21 में हुई थी। जहां ठीक पंखे के नीचे एक बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव दाखिल थी और उसके बेड के साथ अचानक प्लास्टर का टुकड़ा टूटकर गिर गया था। इस हादसे में कोरोना पॉजिटिव मरीज बाल-बाल बची थीं। वहीं दूसरे मरीज सहम गए थे। अस्पताल प्रशासन ने पुरानी इमारत की मरम्मत के लिए पीडब्ल्यूडी को 12 जनवरी को ही लिख दिया था।

14 मार्च 2020 का मामला

एलएनजेपी अस्पताल की जर्जर इमारत में दूसरी मंजिल के छज्जे से एक टुकड़ा ओपीडी में खड़े मरीजों पर गिर गया था, जिसमें तीन मरीज घायल हो गए थे। एक मरीज के सिर पर गंभीर चोट आई थी। उसका सीटी स्कैन भी अस्पताल प्रशासन ने कराया था। इस हादसे में सलपाणी कलां के अमन, यमुनानगर की सुषमा और सीमा के सिर पर चोट आई थी।

40 साल पुरानी है पुरानी इमारत

एलएनजेपी अस्पताल की पुरानी इमारत 40 साल की हाे चुकी है। यह जगह-जगह से जर्जर हो चुकी है। नई इमारत बनने के बाद अस्पताल के तमाम वार्डों को वहां पर शिफ्ट कर दिया गया था, लेकिन कोरोना के मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड की जरूरत पड़ी तो इस इमारत को वार्ड बना दिया गया था। इस इमारत की जगह अस्पताल का दूसरा ब्लाक बनाने का एक प्रपोजल स्वास्थ्य विभाग उच्चाधिकारियों को भेज चुका है। यहां पर 52 करोड़ की लागत ने नई इमारत बनाई जानी है।

                                                                                                        DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here