शानदार नौकरी को छोड़ कर प्रकृति संवर्धन का उठाया बीड़ा

1
2289

इस समय जब हर काम और व्यवहार सिर्फ सेल्फी और फ़ोटो सेशन तक सिमटता जा रहा है ऐसे में अपनी शानदार नॉकरी छोड़कर स्वदेशी एवं पुरातन परम्परा से जुड़े कार्यो को आगे उठाने का बीड़ा उठाया है रोहिणी निवासी हरीश बहुगुणा ने
प्रकृति नेचर केयर नामसे एक लघु प्रकल्प शुरू करके जन सामान्य तक जैविक एवं स्वदेशी उत्पाद पहुचाने को एक नया तरीका निकालते हुए सामाजिक धार्मिक कार्यक्रम में स्टाल लगाकर न्यूनतम मूल्य के दावे के साथ शुद्ध शहद, हर्बल टी, सहजन और नेटल लीफ, उत्तराखण्ड की हल्दी मिट्टी के बर्तन तथा अन्य इस तरह के उत्पाद को उपलब्ध करवाते हुए प्रकृति नेचर केयर 2500 रुपये मूल्य के उत्पाद दिल्ली एनसीआर में फ्री होम डिलीवरी से उपलब्ध करवा रहा है
जैविक खेती हेतु सलाह एवं सर्विस देने के साथ ही प्रकृति नेचर केयर छोटे छोटे सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पाद लोगो के घर तक पहुचाने को प्रयत्नशील है
आगामी योजनाओं के बारे में हरीश बहुगुणा ने बताया कि सरसो, नारियल, महुवा, बादाम आदि से तेल बनाने हेतु एक घर मे प्रयोग करने वाली मशीन जल्दी ही बाजार में लाई जाएगी ताकि लोग कच्चा माल लेकर स्वयं ही अपने प्रयोग हेतु तेल निकाल सकें, साथ ही यशश्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान से जुड़ते हुए पत्तो से बने दोने पत्तल एवं कटोरिया आदि भी जल्दी ही उपलब्ध करवाई जाएंगी

वर्तमान में प्रकृति का स्टाल नव श्री केशव रामलीला कमेटी के कार्यक्रम में रोहिणी सेक्टर 10 में लगा है, आगामी दिनों में कन्हैया नगर, द्वारका, रोहिणी, इंद्रा पुरम में भी प्रकृति नेचर केयर के स्टाल देखने को मिलेंगे
सम्पर्क सूत्र 9068371010 के माध्यम से शुद्ध वस्तूओं के लेन देन हेतु इनसे जुड़ा जा सकता है

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here