370 हटने के बाद NIA का बड़ा एक्शन, पाकपरस्त पूर्व विधायक राशिद इंजीनियर को गया गिरफ्तार

0
338

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी NIA ने बड़ी कार्यवाई की है. NIA ने जम्मू कश्मीर से पूर्व विधायक राशिद इंजीनियर को गिरफ्तार कर लिया है. राशिद इंजीनियर को टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है. बता दें कि राशिद इंजीनियर अक्सर भारत विरोधी बयान देता रहता है तथा कश्मीर को भारत से अलग करने की बात करता है.

खबर के मुताबिक, एनआईए ने राशिद इंजीनियर को शुक्रवार को टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी से पहले रविवार को NIA ने इंजीनियर राशिद से इस मामले में पूछताछ की थी. पूंछताछ के बाद NIA ने कल राशिद इंजीनियर को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद आज NIA ने उसे पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 14 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

बता दें कि जम्मू कश्मीर में लंगेट विधानसभा सीट से विधायक रह चुका राशिद मुख्यधारा का पहला राजनेता है जिसे एनआईए ने मामले में गिरफ्तार किया है. इससे पहले राशिद इंजीनियर कई भारत विरोधी कृत्यों को अंजाम दे चुका है. एक बार उसने खुलेआम MLA होस्टल में बीफ पार्टी की थी, जिसके बाद बीजेपी विधायक रविन्द्र रैना ने विधानसभा में ही उसे थप्पड़ मारा था. इसके अलावा दिल्ली में हिन्दू सेना के कार्यकर्ताओं ने राशिद के मुंह पर कालिख पोत दी थी.

बता दें कि पिछले महीने एनआईए एजेंसी ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस और संगठनों के कई शीर्ष नेताओं से पूछताछ की और दावा किया कि उन्होंने कश्मीर घाटी में लोगों के बीच अलगाववादी भावनाएं भड़काने के लिए पाकिस्तान से धन मिलने की बात स्वीकार की. एनआईए ने जारी विज्ञप्ति में कहा कि दुख्तरान ए मिल्लत की कुख्यात नेता आसिया अंद्राबी से मलेशिया में उसके बेटे की शिक्षा पर हुए खर्च के बारे में पूछताछ की गई तो पता चला कि यह खर्च जहूर वटाली उठाता था जिसे आतंकवादी वित्त पोषण के मामले में गिरफ्तार किया गया है. इसी जहूर वटाली से राशिद का संबन्ध है तथा दोनों भारत विरोधी कामों को अंजाम देते थे.

NIA की जांच में आसिया अंद्राबी ने स्वीकार किया कि उसे विदेशी स्रोतों से धन और चंदा मिलता रहा है और दुख्तरान ए मिल्लत घाटी में मुस्लिम महिलाओं द्वारा प्रदर्शन का आयोजन करता है.’’ NIA की विज्ञप्ति में कहा गया है कि एनआईए ने आसिया के बेटे मोहम्मद बिन कासिम द्वारा विश्वविद्यालय में पढ़ने के दौरान कुछ बैंक खातों के इस्तेमाल के बारे में संबंधित अधिकारियों से साक्ष्य मुहैया कराने के लिए कहा गया है. एक अन्य कट्टरपंथी नेता शब्बीर शाह से भी उसके व्यवसाय के बारे में पूछताछ की गई जो कथित तौर पर पाकिस्तान से प्राप्त धन से संचालित होता था और इसमें पहलगाम में उसके होटल का व्यवसाय भी शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here