Anurag Kashyap और Taapsee Pannu के बुरे दिन शुरू ? टैक्स चोरी के मामले में सामने आई चौंकाने वाली जानकारी

0
274

टैक्स चोरी के मामले में फिल्ममेकर Anurag Kashyap और एक्ट्रेस Taapsee Pannu पर IT Department का शिकंजा कसता जा रहा है. गुरुवार देर रात तक इस मामले में रेड जारी रही. इस मामले में बीते दिन कई खुलासे हुए, जिनमें रेड के कारणों का पता चला. अब इस मामले में KWAN Talent Management Company का नाम भी सामने आया है. आयकर विभाग ने इनके दफ्तर में भी छापा मारा है.

आपको बता दें कि ‘फैंटम फिल्म्स’ के टैक्स चोरी मामले में लगातार तीसरे दिन यानी कि गुरुवार देर रात तक मुंबई में क्वान टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी के ऑफिस पर आयकर अधिकारियों की रेड चलती रही. क्वान टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी के ऑफिस पर आयकर अधिकारियों की 36 घंटे रेड चली है. देर रात एक बजे 5-6 अधिकारी क्वान ऑफिस बिल्डिंग से बाहर निकलते देखे गए.

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग की यह रेड अभी एक-दो दिन और चलेगी. देर रात तक चल रही इस इनकम टैक्स की रेड में अधिकारियों के साथ जया साहा भी मौजूद थीं. बता दें, जया साहा सुशांत सिंह मामले में चर्चित नाम रही हैं. जया साहा सुशांत सिंह राजपूत की टैलेंट मैनेजर भी रह चुकी हैं. सूत्रों के मुताबिक आयकर अधिकारियों ने जया साहा से भी 350 करोड़ की कथित गड़बड़ी और फैंटम प्रोडक्शन हाउस से हुई डील के बारे में जानकारी हासिल की है.

बता दें, गुरुवार को हुई आयकर विभाग की छानबीन में कई बातें सामने आई हैं. रेड में अब तक 350 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी और 300 करोड़ रुपये की हेराफेरी करने का खुलासा हुआ है. वहीं तापसी पन्नू के नाम पर 5 करोड़ की कैश रिसिप्ट रिकवर भी हुई है, जिसकी जांच जारी है.  छापेमारी के दौरान 7 लॉकर्स का भी पता चला है, जिन्हें विभाग ने सीज कर दिया है. इसके अलावा फर्जी बिल से 20 करोड़ रुपये की गड़बड़ी की बात भी संज्ञान में आई है.

बता दें, इससे पहले भी कई खुलासे हुए. आयकर सूत्र के मुताबिक Anurag Kashyap और Taapsee Pannu पर आयकर छापेमारी का मूल कारण सामने आया था. बताया गया कि इस छापेमारी की वजह है अनुराग कश्यप का हाल ही में किया गया प्रॉपर्टी निवेश. अनुराग ने 16 करोड़ रुपये घर खरीदने में निवेश किए. इस घर को खरीदने में बड़ी राशि उस कंपनी के अकाउंट से दी गई, जो कंपनी अब बंद कर दी गई है.

इसके साथ ही कहा गया कि तापसी पन्नू ने अपने घर का इन्टीरियर डिजाइन और डेकोर कराया था. इसका पेमेंट भी इसी कंपनी के खाते से किया गया. इन मामलों की वजह से ये जांच शुरू हुई, जो अब साल 2011 से वर्तमान आयकर अदायगी तक पहुंच गई है. आयकर को इस बात की जानकारी मिली है कि कंपनी के लाभ छुपाने के लिए कंपनी को बंद कर दिया गया है. फैंटम फिल्म्स से जुड़े सभी लोगों और इस कंपनी के खाते से किए गए सभी भुगतान की जांच की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here