द्वारका-नजफगढ़ के बीच मेट्रो सेवा शुरू, दिल्ली की जनता को मिला दिवाली गिफ्ट

0
243

दिल्ली- आज दिल्ली मेट्रो लाइन के द्वारका-नजफगढ़ ग्रे लाइन मेट्रो का उद्घाटन किया गया . बता दे की दिल्ली मेट्रो का द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर शुक्रवार से आधिकारिक तौर पर शुरू होगा. मेट्रो भवन में केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य एवं नागर विमानन राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। जो शुक्रवार को शाम पांच बजे से आम लोगों के लिए शुरू हो जाएगी. जिससे नजफगढ़ का ग्रामीण इलाका शहरी क्षेत्र से जुड़ जाएगा. और इसी के साथ दिल्ली मेट्रो 377 किलोमीटर का लंबा रेल नेटवर्क बन जाएगा. इस कॉरिडोर में द्वारका, नंगली और नजफगढ़ तीन स्टेशन हैं. द्वारका स्टेशन ब्लू लाइन और ग्रे लाइन के लिए इंटरचेंज स्टेशन है. और ग्रे लाइन फेज 3 मेट्रो का आखरी कॉरिडोर है. इसके शुरू होते ही नजफगढ़ और इसके आसपास के ग्रामीण इलाके मेट्रो से सीधे जुड़ जाएंगे. और ग्रे लाइन पर सफर करने वाले यात्री नजफगढ़ से नोएडा केवल 1 घंटे में पहुंच जाएंगे. नजफगढ़ के आसपास के तमाम इलाकों से एयरपोर्ट के लिए भी सफर आसान हो जाएगा. जहा घंटो की यात्रा अब सिर्फ नजफगढ़ से द्वारका केवल 6 मिनट में पहुंचा जा सकता है, पहले इसमें आधा घंटा लगता था.

वही दिल्ली मेट्रो के एक अफसर ने बताया कि 4.2 किलोमीटर लंबी मेट्रो कॉरिडोर पर 3 स्टेशन होंगे। और अनुज दयाल ने बताया कि ग्रे लाइन पर तीन मेट्रो स्टेशन द्वारका, नांगली और नजफगढ़ हैं. नांगली और द्वारका के स्टेशन ‘एलिवेटिड’ हैं जबकि नजफगढ़ का स्टेशन भूमिगत है. 4.2 किलोमीटर लंबी इस ग्रे लाइन में से 2.57 किलोमीटर का हिस्सा जमीन से ऊपर है जबकि 1.5 किलोमीटर लाइन जमीन से नीचे है. ग्रे लाइन के शुरू होते ही दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क 377 किलोमीटर का हो जाएगा जिसमें 274 स्टेशन होंगे. वही द्वारका ब्लू लाइन के साथ इंटरचेंज स्टेशन होगा, जहां यात्री द्वारका सेक्टर 21, दिल्ली एयरपोर्ट, नोएडा और वैशाली की ओर जाने के लिए मेट्रो बदल सकेंगे, लिहाजा नजफगढ़ से आधे घंटे में एयरपोर्ट, 70 मिनट में वैशाली और 80-85 मिनट में नोएडा पहुंचा जा सकेगा. ग्रे लाइन का विस्तार ढांसा बस स्टैंड तक किया जा रहा है. इसके लिए नजफगढ़ मेट्रो स्टेशन से ढांसा बस स्टैंड के बीच 1.54 किमी लंबा भूमिगत कॉरिडोर बन रहा है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) ने इस पूरी लाइन को ग्रे लाइन का कलर कोड दिया है. डीएमआरसी को उम्मीद है कि द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर के खुलने के बाद अगले साल करीब एक लाख लोग इस सेक्शन पर ट्रैवल करेंगे. क्योंकि इस पूरे इलाके में रहने वाले लोगों को मेट्रो लेने के लिए बस या किसी अन्य साधन से 5-6 किमी दूर द्वारका जाना पड़ता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here