अनमोल बनकर हिंदू लड़कियों को फंसाता था आलम … फिर एक नाबालिग को बना लिया शिकार

0
30

उसका नाम आलम अंसारी था लेकिन वह अनमोल बनकर हिंदू लड़कियों को लव जिहाद में फंसाने की कोशिश में रहता था. और उसकी कोशिश उस समय कामयाब हो गई जब एक नाबालिग लड़की उसके जाल में फंस गई तथा वह उसे लेकर फरार हो गया. मामला योगी शासित उत्तर प्रदेश का है जहां की पुलिस आलम अंसारी नाम के युवक की तलाश कर रही है जो कि 2 जनवरी 2021 से एक नाबालिग लड़की के साथ फ़रार है.

मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश पुलिस ने जानकारी दी कि आलम अंसारी ने हिन्दू नाम (अनमोल मिश्रा) से इन्स्टाग्राम अकाउंट बनाया. इसकी मदद से उसने नाबालिग लड़की को अपने झाँसे में लिया और उसके साथ फ़रार हो गया. ‘अनमोल मिश्रा’ नाम से बनाए गए आलम अंसारी के फ़र्ज़ी अकाउंट के बायो में ‘आई लव इंडियन आर्मी’ भी लिखा हुआ था जिससे उसका पेज और असल नज़र आए.

पुलिस के मुताबिक़, आलम अंसारी उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले स्थित शोहरतगढ़ का रहने वाला है. वह सोशल मीडिया की मदद से लड़कियों को अपने झाँसे में लेता था. वह अनमोल मिश्रा बन कर नाबालिग लड़की से घंटों बात करता था. जैसे ही उसने नाबालिग लड़की को अपने झाँसे में लिया वैसे ही वह उसके साथ फ़रार हो गया. पुलिस फ़िलहाल दोनों की तलाश में जुटी हुई है.

मामला तब प्रकाश में आया जब नाबालिग लड़की 2 जनवरी की देर शाम तक घर वापस नहीं लौटी. नतीजतन लड़की के परिजनों ने थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई. शिकायत के आधार पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने आलम अंसारी पर मामला दर्ज करके मामले की जाँच शुरू कर दी है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने आलम अंसारी और नाबालिग लड़की की खोजबीन के लिए दो पुलिस अधिकारियों की टीम का गठन किया है.

इसके अलावा एक सर्विलांस टीम दोनों की मोबाइल लोकेशन खोज रही है. 3 जनवरी को पुलिस को दोनों की लोकेशन बलरामपुर स्थित राधाकृष्ण मंदिर के पास मिली थी. जिसके बाद सब इंस्पेक्टर हरी नारायण दीक्षित की अगुवाई वाली टीम उस लोकेशन पर भेज दी गई थी लेकिन जब तक वह मौके पर पहुँचे आरोपित आलम अंसारी नाबालिग के साथ फ़रार हो चुका था.

पुलिस ने यह अनुमान लगाया था कि अंसारी को दबिश की जानकारी मिल गई थी जिसकी वजह से वह मौके से भागने में कामयाब रहा. अनमोल मिश्रा के अकाउंट की डीपी (डिस्प्ले पिक्चर) में आलम अंसारी की तस्वीर लगी है. जाँच के दौरान पुलिस को यह पता चला कि अंसारी ने अपने इन्स्टाग्राम अकाउंट से नाबालिग लड़की को हिन्दू बन कर अपने जाल में फँसाया.

अनमोल मिश्रा नाम के अकाउंट में जो तस्वीर लगी थी वह असल में आलम अंसारी की थी, जिसकी वजह से पुलिस यह पहचानने में सफल हुई कि वह असल में आलम अंसारी है. फ़िलहाल पुलिस आरोपित के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगालने में जुटी हुई है कि किन कारणों से उसने फ़र्ज़ी नाम से ये हरकत अंजाम दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here