बिछड़ा बेटा बन ब्राह्मण परिवार में पहुंच गया शफीक … फिर साधू बन करने लगा ठगी

0
492

झारखंड के हजारीबाग जनपद के टाटीझरिया क्षेत्र के झरपो निवासी कालेश्वर मिश्र के घर कुछ दिन पहले उनका 17 साल पहले बिछड़ा हुआ पुत्र बनकर योगी के वेश में पहुंचा शख्स शातिर ठग निकला। कालेश्वर मिश्र और घरवाले उसे अपना बेटा समझकर प्यार उड़ेल रहे थे, लेकिन वह घर के प्रत्येक सदस्य के जज्बातों से खिलवाड़ करता रहा। लेकिन ज्यादा दिन तक उसका झूठ छिप नहीं पाया।

इस ठग ने कौलेश्वर मिश्र की बड़़ी बेटी को ठगी का शिकार बनाना चाहा, लेकिन उसका भेद खुल गया और इचाक पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। साधु का वेश बनाकर ठगी करने वाले शख्स का नाम मोहम्मद शफीक अहमद है। वह उत्तर प्रदेश के गोंडा लालपुर के बिशनपुर के टिकरिया का रहने वाला है। झरपो गांव निवासी कालेश्वर मिश्र ने बताया कि उनका पुत्र सुबोध पिछले 17 साल से लापता है, जिसकी तलाश परिजन वर्षों से कर रहे हैं।

अक्टूबर 2020 में यूपी का एक शख्स मोहम्मद शफीक अहमद साधु के वेश में कालेश्वर मिश्रा की ससुराल चैथी चौपारण पहुंचा और वहां सारंगी बजा कर रिश्तेदार बताने लगा और गुदड़ी की मांग करने लगा। परिवार वालों ने योगी के वेश में पहुंचे युवक की बातों में आ गए और इसकी सूचना झारपो के कालेश्वर मिश्रा को दी। इसके बाद दोनों पति-पत्नी वहां पहुंचे तो वे भी उसकी बातों में आकर शख्स को अपना बेटा समझ बैठे एवं उसे अपने घर झरपो ले आये।

योगी के वेश में मिले मोहम्मद शफीक अहमद को अपना बेटा समझ कौलेश्वर मिश्र ने उसकी बढ़ी हुई दाढ़ी-बाल को कटवाया एवं पूजा-पाठ करवाया। कालेश्वर मिश्रा ने बताया कि वह तीन दिनों तक झरपो में रहा, फिर अमनारी जाने की बात कह कर घर से मोटरसाइकिल लेकर निकल गया और घर से फरार हो गया। लेकिन शाम को युवक ने कालेश्वर मिश्रा को फोन कर बताया कि आपकी मोटरसाइकिल बरकट्ठा में है और वह गोरखनाथ गुरु को सिद्धि देने जा रहा है।

यह जानकर कालेश्वर मिश्रा बरकट्ठा गया और वहां से मोटरसाइकिल को बरामद किया। इस बीच युवक कालेशवर मिश्रा की पत्नी नगीना देवी से बातचीत करता रहा। इसके बाद शनिवार (2 जनवरी) को शफीक अहमद कालेश्वर मिश्र की बड़ी बेटी पूनम से रुपए ऐंठने उसके चतरा जिले पुंडरा गांव स्थित ससुराल पहुंचा और वहां भंडारा एवं सिद्धि के नाम पर 33 हजार रुपए की मांग करने लगा। ऐसे में ससुरालवालों को उसपर शक हुआ। वहीं, पूनम ने इसकी सूचना अपने पिता कालेश्वर मिश्रा को दे दी।

कालेश्वर मिश्रा मौके पर पहुंच गए और फिर उससे कड़ाई से पूछताछ करने लगे। इस दौरान शफीक अहमद की पोल खुल गई। युवक ने अपने आप को शफीक अहमद बताया। उसने बताया कि वह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले का रहने वाला है। इसके बाद कालेश्वर मिश्र ने पुलिस को सूचना दे दी। मौके पर पहुंची हजारीबाग की इचाक थाना पुलिस ने मोहम्मद शफीक अहमद को गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here