Home राज्य उत्तर प्रदेश इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड:-फरार IPS अधिकारी मणिलाल पाटीदार पर 25 हजार का इनाम...

इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड:-फरार IPS अधिकारी मणिलाल पाटीदार पर 25 हजार का इनाम घोषित, सिपाही अरूण यादव भी इनामी

0
150

 

Mahoba Murder Case महोबा में व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी से महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार के छह लाख की रिश्वत मांगने के बाद त्रिपाठी की हत्या से मामला काफी तूल पकड़ गया। योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस केस में काफी सख्त कार्रवाई की।

लखनऊ. महोबा में व्यापारी इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड में निलंबन के बाद से फरार चल रहे आइपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार के साथ ही कॉन्स्टेबल अरुण यादव पर शासन का शिकंजा कस गया है। महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार को भगोड़ा घोषित करने के बाद अब 25 हजार का इनाम रखा गया है।

आइपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार के साथ ही कॉन्स्टेबल अरुण यादव पर शासन का शिकंजा कस गया है

महोबा में व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी से महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार के छह लाख की रिश्वत मांगने के बाद त्रिपाठी की हत्या से मामला काफी तूल पकड़ गया। योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस केस में काफी सख्त कार्रवाई की। पाटीदार के साथ सीओ तथा तत्कालीन थानाध्यक्ष को निलंबित किया गया। इसके बाद मणिलाल पाटीदार के खिलाफ शिकंजा कसा गया। हत्या में नामजद करने के बाद पाटीदार और सिपाही अरुण यादव को भगोड़ा घोषित किया गया। अब इन दोनों पर 25-25 हजार रुपया का इनाम घोषित किया गया है। महोबा के एसपी अरुण श्रीवास्तव ने इनके खिलाफ इनाम घोषित किया है।

इंद्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड में निलंबन के बाद से कोरोना वायरस संक्रमण का बहाना बनाकर गिरफ्तारी से बचने वाले मणिलाल पाटीदार के साथ ही सिपाही अरुण यादव 15 नवंबर से फरार हैं। मणिलाल पाटीदार समेत तीन पुलिस कॢमयों को लखनऊ की स्पेशल कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया था। मणिलाल पाटीदार के खिलाफ अब एक और मुदमा दर्ज हो सकता है। इनके खिलाफ अवैध वसूली के मामले में केस दर्ज करने के लिए अभियोजन अधिकारियों से परामर्श लिया जा रहा है। अब पाटीदार के साथ उसके करीबी सिपाही अरुण कुमार यादव पर भी एक और केस दर्ज करने की तैयारी की जा रही है।

निलंबित होने के बाद से आइपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार फरार चल रहा है।

शीघ्र ही पाटीदार से साथ सिपाही की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई भी होने वाली है। महोबा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र कुमार गौतम के मुताबिक जिले के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार, इंस्पेक्टर देवेंद्र शुक्ला और कांस्टेबल अरुण यादव महोबा के व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत के बाद से फरार चल रहे हैं। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई ने आरोप लगाया कि पाटीदार ने त्रिपाठी से छह लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी। मणिलाल ने धमकी दी कि यदि एक हफ्ते के अंदर रकम नहीं दी तो जान से मार दिया जाएगा या जेल भेज दिया जाएगा। इसके बाद पाटीदार को भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण सेवा से निलंबित करके जांच का आदेश जारी कर दिया गया।

DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here