चीन को रौंदने को तैयार हिंद की सेना … लद्दाख में तैनात की घातक मिसाइलें

0
225
लद्दाख में चीन की सेना से भिड़त के बाद भारतीय सेना ने अब चीन को रौंदने की पूरी तैयारी कर ली है. दरअसल LAC पर भारत व चीन के तनाव कम होता नजर नहीं आ रहा है. भारत अब पूरी तरह से सतर्क और चौकन्ना है. वास्तविक नियंत्रण रेखा LAC) पर चीनी ल़़डाकू जेट और हेलीकॉप्टर दिखाई देने के बाद भारत अब अपने उच्च मारक क्षमता वाले हथियार एलएसी पर तैनात कर रहा है. भारतीय सेना ने अभी हाल ही में पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में हवा में दूर तक मार करने वाली घातक आकाश मिसाइलें तैनात की हैं.
एक समाचार एजेंसी को सरकारी सूत्रों ने बताया कि क्षेत्र में चल रहे निर्माण के हिस्से के रूप में भारतीय वायुसेना चीनी वायुसेना को मुंहतोड़ जवाब दे सके इसलिए इन मिसाइलों को पूर्वी लद्दाख में भारत–चीन सीमा पर तैनात किया गया है. अब पूरे सेक्‍टर में एडवांस्‍ड क्विक रिएक्‍शन वाला सरफेस-टू-एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम मौजूद है जो PLAAF के किसी भी फाइटर जेट को कुछ सेकेंड्स में तबाह कर सकता है.
पिछले दो हफ्तों में चीनी एयरफोर्स ने सुखोई-30 और अपने स्‍ट्रेटीजिक बॉम्‍बर्स को LAC के पीछे तैनात किया है. उन्‍हें LAC के पास 10 किलोमीटर के दायरे में उड़ान भरते देखा गया है। जिसके बाद एयर डिफेंस सिस्‍टम की तैनाती का फैसला हुआ. सरकारी सूत्रों ने एएनआई से कहा, “सेक्‍टर में बढ़ते बिल्‍ड-अप के बीच, इंडियन आर्मी और इंडियन एयरफोर्स, दोनों के एयर डिफेंस सिस्‍टम तैनात कर दिए गए हैं ताकि चीनी एयरफोर्स या PLA चॉपर्स की किसी गलत हरकत से निपटा जा सके.”
आर्मी ने पूर्वी लद्दाख में ‘आकाश’ मिसाइलें भी भेजी हैं जो किसी भी तेज रफ्तार एयरक्राफ्ट या ड्रोन को सेकेंड्स में खाक कर सकती हैं. इसमें कई मॉडिफिकेशंस और अपग्रेड किए गए हैं ताकि इसे पहाड़ी इलाकों में भी उसी एक्‍युरेसी के साथ यूज किया जा सके. पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में IAF के फाइटर एयरक्राफ्ट्स पहले से ही काफी सक्रिय हैं. भारत ने चीन को खदेड़ने के लिए सुखोई, मिराज तथा मिग जैसे फाइटर जेट तथा चिनूक आदि हेलीकाप्टर भी तैनात कर दिए हैं.
इसके अलावा चीन से तनाव के बीच भारतीय वायुसेना के अभ्यास में सुखोई 30–एमकेआइ के साथ ट्रांसपोर्ट विमान व चिनूक हेलीकॉप्टर भी हिस्सा ले रहे हैं. साजो सामान पहुंचाकर क्षेत्र में सेना की ताकत और ब़़ढाने के लिए वायुसेना के विमान चंडीग़़ढ से लगातार लद्दाख के लिए उ़़डान भर रहे हैं. थलसेना व वायुसेना प्रमुख के हाल ही के पूर्वी लद्दाख के दौरों के बाद क्षेत्र की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाली सेना और वायुसेना के हौसले बुलंद हैं. अगर चीन इस बार कुछ भी नापाक हरकत कर रहा है तो हिंद की सेना उसे रौंदने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here