स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अब कूद पड़े शिवसेना विवाद में

0
135

अपने बेबाक बयानों के लिए प्रसिद्ध भाजपा नेता और हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अब कंगना बनाम शिवसेना विवाद में कूद पड़े हैं। उन्होंने शिवसेना को चेतावनी देते हुए कहा कि शिवसेना नेता किसी को सच बोलने से रोक नहीं सकते।

कंगना के समर्थन में उतरे विज ने शनिवार को शिवसेना पर जोरदार हमला करते हुए पूछा कि मुंबई क्या शिवसेना का खानदानी प्रदेश है, क्या ये उनके पिताजी की है? मुंबई भारत का हिस्सा है और कोई भी वहां जहां सकता है। जो इस प्रकार की धमकियां देते हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

अनिल विज ने कहा कि कंगना रनौत को पुलिस सुरक्षा दी जाए। उसे खुलकर सच बोलने की अनुमति दी जानी चाहिए। आप किसी को सच बोलने से रोक नहीं सकते।

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा मुंबई को पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) जैसा बताने वाले बयान पर शिवसेना द्वारा ऐतराज जताए जाने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। कंगना ने गुरुवार को शिवसेना सांसद संजय राउत पर आरोप लगाया था कि राउत उन्हें मुंबई न आने की खुले आम धमकी दे रहे हैं।

बीते दिनों अभिनेत्री कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा था, “मुंबई पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर जैसा क्यों लग रहा है।”

कंगना रनौत के बयान पर महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे ने शुक्रवार को अभिनेत्री पर निशाना साधते हुए कहा था कि कोई व्यक्ति ऐसा बयान तभी दे सकता है जब वह अपना “मानसिक संतुलन” खो चुका हो।

मुंडे ने ट्वीट किया, “कुछ लोगों को आभार जताने में समस्या होती है। मुंबई में हजारों लोग आजीविका कमाते हैं जिनमें आप भी शामिल हैं। आपने यहां नाम, प्रसिद्धि और सब कुछ कमाया।”

इस बीच राज ठाकरे नीत महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) की फिल्म इकाई ने शुक्रवार को कहा कि कंगना रनौत पर देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए। मनसे फिल्म कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अमेय खोपकर ने कहा कि मुंबई पुलिस के बारे में रनौत द्वारा की गई टिप्पणी सहन नहीं की जाएगी।

                                                                                                    AMARJEET KAUR

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here