सरकारी स्कूल में पढ़ाता था शम्स परवेज … हिंदू लड़कियों की Fake ID बनाकर करता था गंदी गंदी बातें

0
274

कहते हैं कि शिक्षक ही समाज के विकास का आधार होता है. लेकिन जब शिक्षक ही सही गलत के ज्ञान की सुधबुध खो बैठे तो बड़ा सवाल खड़ा हो जाता है. ऐसे शिक्षक अपने विद्यालय में किस प्रकार की शिक्षा की नींव डालते होंगे इसका अंदाजा सहज लगाया जा सकता है. सरकार लाखों करोड़ों रुपए शिक्षा की बुनियाद को मजबूत करने के लिए खर्च करती है लेकिन शम्स परवेज जैसे शिक्षक सरकारी पैसे का तो दुरूपयोग करते ही हैं, साथ ही देश के नौनिहालों को भी गलत रास्ते पर ले जाते हैं.

कहने को तो शम्स परवेज सरकारी स्कूल का एक अध्यापक था, जिसका सभी सम्मान करते थे लेकिन वह जो कार्य करता था वह न सिर्फ अपराध है बल्कि शर्मनाक भी है. खबर के मुताबिक़, आज़मगढ़ के एक प्राथमिक विद्यालय का शिक्षक शम्स परवेज फेसबुक पर हिंदू महिला की फर्जी आईडी बनाकर आपत्तिजनक कमेंट करता था. शिकायत के बाद पुलिस ने शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया है और जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है.

जानकारी के मुताबिक़, लड़की की फेक आईडी बनाकर आपत्तिजनक कमेंट करने का आरोपी शम्स परवेज उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जनपद के बिलरियागंज शिक्षा क्षेत्र में एक परिषदीय विद्यालय में बतौर अध्यापक तैनात हैं. इसी क्षेत्र के एकल विद्यालय के सहायक अध्यापक संतोष यादव ने पुलिस को लिखित शिकायत दी थी कि उनके फेसबुक आईडी पर एक महिला की आईडी से लगातार अभद्र टिप्पणी की जा रही है.

मामले की जांच साइबर सेल की तरफ से की गई तो यह पता चला कि यह एक फर्जी आईडी है और इसको प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक शम्स परवेज आदमी के द्वारा संचालित किया जाता है. इस बारे में अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी शिक्षक को आईटी एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है तथा सुसंगत धाराओं में चालान कर दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here