पूर्व पार्षद हरीश शर्मा व राजेश शर्मा सुसाइड प्रकरण में तत्कालीन SP, तहसील कैंप चौकी इंचार्ज और SI के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज है

0
186

 

पानीपत. पूर्व पार्षद हरीश शर्मा व राजेश शर्मा सुसाइड प्रकरण में तत्कालीन SP, तहसील कैंप चौकी इंचार्ज और SI के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज है। इस मामले की जांच के लिए गठित SIT ने पूर्व पार्षद की बेटी के सप्लीमेंटरी बयान दर्ज किए हैं। उन्होंने DSP, SP के रीडर, चारों CIA इंचार्ज और दो यूट्यूबर्स के नाम बताए हैं। अब SIT वापस लौट चुकी है। SIT अपनी जांच गृह मंत्री को सौपेंगी।

गृह मंत्री अनिल विज के आदेश पर इस मामले की जांच SIT कर रही है

पूर्व पार्षद हरीश शर्मा और उनके सहयोग राजेश शर्मा सुसाइड मामले में कई अन्य भी फंस सकते हैं। दोनों को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में तत्कालीन SP मनीषा चौधरी, तहसील कैंप चौकी इंचार्ज बलजीत और SI महाबीर के खिलाफ मॉडल टाउन थाने में केस दर्ज है। गृह मंत्री अनिल विज के आदेश पर इस मामले की जांच SIT कर रही है। गृह मंत्री मंगलवार को पूर्व पार्षद के घर पहुंचे थे। उसके अगले ही दिन बुधवार को SIT पानीपत पहुंची और पूर्व पार्षद हरीश शर्मा की बेटी पार्षद अंजली शर्मा के सप्लीमेंटरी बयान दर्ज किए।

अंजली शर्मा ने DSP राजेश फोगाट, SP रीडर दिलबाग सिंह, चारों CIA के इंचार्ज और दो यूट्यूबर्स को भी पिता की मौत का जिम्मेदार बताया है। करीब चार घंटे की पूछताछ में SIT ने अंजली शर्मा, उनकी मां और भाई के भी बयान लिये। बयान के बाद SIT वापस लौट चुकी है। अब इस मामले में नये नामों की भूमिका की जांच की जाएगी। जिसके बाद इस केस में अन्य नामों को जोड़ा जा सकता है।

यह था मामला

दिवाली के दिन पटाखे बेचने को लेकर तहसील कैंप चौकी पुलिस ने पूर्व पार्षद हरीश शर्मा और उनकी बेटी अंजली शर्मा समेत 10 लोगों पर 11 धाराओं में केस दर्ज किया था। केस में बेटी का नाम आने और दिन-रात पुलिस की दबिश से परेशान होकर 19 नवंबर को हरीश शर्मा ने बिंझौल नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। उन्हें बचाने के प्रयास में राजेश शर्मा की भी डूबने से मौत हुई थी।

                                                                                                      DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here