दिल्लीः महिला आयोग ने 3 लड़कियों को मानव तस्करों से बचाया, FIR नहीं करने पर पुलिस को नोटिस

0
102

 

महिला आयोग की टीम पुलिस के साथ शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए पते पर पहुंची और वहां पहुंचकर टीम ने पाया कि कुछ पुरुष वहां बैठकर शराब पी रहे थे और घर में 3 लड़कियां भी मौजूद थी. टीम को देखकर लड़कियां डर गईं और भागने का प्रयास करने लगीं.

दिल्ली. दिल्ली महिला आयोग ने स्वरूप नगर इलाके से 3 नाबालिग लड़कियों को मानव तस्करी के रैकेट से रिहा कराया. आयोग की 181 हेल्पलाइन पर अज्ञात शख्स ने अपने क्षेत्र में चल रही संदिग्ध गतिविधियों से आयोग को अवगत कराया. व्यक्ति ने बताया कि उसके घर के पास ही एक घर में नाबालिग लड़कियों को लाया जाता है और वहां से उन्हें बेचा जाता है.

महिला आयोग की टीम पुलिस के साथ शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए पते पर पहुंची और वहां पहुंचकर टीम ने पाया कि कुछ पुरुष वहां बैठकर शराब पी रहे थे और घर में 3 लड़कियां भी मौजूद थी. टीम को देखकर लड़कियां डर गईं और भागने का प्रयास करने लगीं.टीम ने लड़कियों की काउंसलिंग की और उनसे बात करने पर पता लगा कि तीनों लड़कियां झारखंड की मूल निवासी हैं और ये अलग-अलग कारणों से दिल्ली लाई गई थीं. सभी बच्चियों और घर में उस वक्त मौजूद लोगों को स्वरूप नगर पुलिस स्टेशन ले जाया गया. सभी लड़कियों ने बताया कि उन्हें झारखंड से दिल्ली काम के बहाने लाया गया.

लड़कियों का मेडिकल करवाया गया और उसके बाद उन्हें शेल्टर होम में रखवाया गया. लड़कियों को उसके बाद बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया. समिति ने पुलिस को मामले में FIR करने और संबंधित SHO से एटीआर भी मांगी है. मामले में पुलिस का रवैया काफी असंतोषजनक रहा. पुलिस के इस मामले में FIR न दर्ज करने के कारण दिल्ली महिला आयोग ने भी पुलिस को नोटिस भेजा है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, “दिल्ली महिला आयोग की 181 हेल्पलाइन दिल्ली की महिलाओं की निष्काम भाव से सेवा कर रही है. बड़ा दुख होता है जब पुलिस ऐसे गंभीर मामलों में भी समय पर FIR नहीं करती है.उन्होंने कहा कि दिल्ली में चल रहे मानव तस्करी के हजारों रैकेट पर हमने चोट की है. अब तक हजारों बच्चियों को इन रैकेट्स से हमने मुक्त करवाया है. हम इसी तरह आगे भी काम करते रहेंगे. साथ ही देश में मानव तस्करी को रोकने के लिए सभी सरकारों को एक साथ आने और एक सांझा प्रयास करने की आवश्यकता है.

                                                                                                       DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here