आजमगढ़ पुलिस ने मार गिराया 3 लाख के इनामी कुख्यात बदमाश को.. CO जितेंद्र सरगम की टीम ने दिया ऑपरेशन को अंजाम

0
431

सिर्फ आजमगढ़ पुलिस ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश सरकार की आंखों की किरकिरी बने 3 लाख के इनामी बदमाश सूर्यांश दुबे का खात्मा हो गया है. आजमगढ़ जिले के सरायमीर थाना क्षेत्र में गुरुवार देर रात पुलिस से मुठभेड़ में तीन लाख का इनामी बदमाश सूर्यांश दुबे मारा गया. एनकाउंटर के दौरान दो पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं. CO जितेंद्र सरगम की टीम ने इस एनकाउंटर को अंजाम दिया तथा समाज के लिए भय का पर्याय बने 3 लाख के इनामी सूर्यांश दुबे का खात्मा कर दिया.

सूर्यांश दुबे का खात्मा कितनी बड़ी उपलब्धि है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसको ढेर करने वाली पुलिस टीम को दो लाख ईनाम की घोषणा शासन की ओर से की गई है. प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक, सरायमीर थाना क्षेत्र में शेरवा गांव की बस्ती नहर की पुलिया के पास गुरुवार रात 11 बजे के बाद पुलिस से मुठभेड़ में सूर्यांश दूबे घायल हो गया। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से एसओजी के एसआई श्रीप्रकाश शुक्ला, कांस्टेबल प्रदीप पांडेय घायल हो गए.

पुलिस को कई मामलों में सूर्यांश की तलाश थी. वह प्रधान सत्यमेव जयते हत्याकांड का आरोपी था. तरवां थाना क्षेत्र में प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या की गई थी. बदमाश सूर्यांश पर जिला प्रशासन ने 1 लाख का और शासन ने 2 लाख का ईनाम घोषित कर रखा था. हाल ही में एक बड़े व्यापारी को मैसेज कर बदमाश सूर्यांश दुबे की तरफ से पांच लाख रुपए की रंगदारी की मांग की गई थी. जब इसकी सूचना पुलिस को दी गई तो कुख्यात सूर्यांश की तलाश में पुलिस जुट गई.

इसी दौरान शाम को सीओ जितेंद्र सरगम को सूचना मिली कि कुख्यात गैंगस्टर हत्या में वांछित व तीन लाख रुपए का इनामी सूर्यांश दुबे कोई बड़ी वारदात करने की फिराक में है. जिसके बाद सीओ जितेंद्र सरगम के नेतृत्व में बड़े स्तर पर अपराधी के विरुद्ध अभियान चलाया गया तथा देर रात अपराधी को मुठभेड़ के दौरान सरायमीर क्षेत्र में मार गिराया गया. मारे गए अपराधी के कब्जे से दो 9 MM के पिस्टल व भारी मात्रा में कारतूस भी बरामद हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here