महाराष्ट्र पुलिस में तैनात दो जुड़वां भाइयों की कोरोना से मौत

0
73
महाराष्ट्र हिंदुस्तान का वो राज्य है जहाँ कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया हुआ है. हालाँकि अब महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में भले ही थोड़ी कमी आ रही हो लेकिन अब भी वहां ढेर सारे पुलिसकर्मी इस खतरनाक वायरस के शिकार हो रहे हैं. पिछले दिनों यहां दो कॉन्स्टेबल की मौत हो गई. दुख की बात ये है ये दोनों जुड़वां भाई थे. दोनों भाइयों की मौत 10 दिनों के अंदर हो गई. बता दें कि अब तक महाराष्ट्र पुलिस के कुल 100 कर्मियों की मौत हो चुकी है.
खबर के मुताबिक दोनों भाई महाराष्ट्र पुलिस में साल 1991 में शामिल हुए थे. 20 जुलाई को 56 साल के दिलीप घोड़के की मौत हुई थी. जबकि गुरुवार को दूसरे भाई जयसिंह घोड़के ने भी दम तोड़ दिया. जोन 4 के पुलिस उपायुक्त, प्रमोद शेवाले ने कहा, ‘दोनों भाइयों का कोराना का इलाज चल रहा था. वे दोनों भाई महामारी के दौरान लगातार ड्यूटी करते रहे. इसी दौरान ये दोनों कोरोना से संक्रमित हो गए थे.’
दिलीप के मरने के दो दिन बाद जयसिंह घोड़के का भी कोरोना टेस्ट किया गया. उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई. लेकिन दो दिन बाद ही उन्हें बुखार हो गया और उन्हें सांस लेने में परेशानी होने लगी. अंबरनाथ पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक एसएन धूमल ने कहा, ‘हमने उनकी देखभाल के लिए दो पुलिसकर्मियों को नियुक्त किया था. बाद में 28 जुलाई को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई. फिर उन्हें डोंबिवली के सांवलाराम स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के कोरोना केयर सेंटर में ट्रांसफर कर दिया.
इसके बाद उन्हें 29 जुलाई को ममता अस्पताल भेज दिया गया क्योंकि उनकी हालत ठीक नहीं थी. गुरुवार को सुबह 6.30 बजे के करीब उनकी मौत हो गई.’ राज्य में अब तक कुल 8722 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों में से 6670 को उपचार के बाद अस्पताल से घर भेजा जा चुका है. वहीं 150 अधिकारियों सहित 1,213 पुलिसकर्मियों का अलग-अलग अस्पतालों में अभी भी इलाज चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here