मुगल म्यूजियम का नाम होगा छत्रपति शिवाजी म्यूजियम, नए यूपी में स्वीकार्य नहीं गुलामी के प्रतीक

0
297

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को आगरा में बन रहे मुगल म्यूजियम का नाम बदलने का ऐलान किया है. सीएम योगी ने सोमवार को कहा कि आगरा में निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम, छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम स्थापित होगा. सोमवार को मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान मंज़ूरी दी. इस दौरान सीएम ने कहा कि मुगल हमारे नायक कभी नहीं हो सकते.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा की, उन्होंने कहा है कि आगरा में निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम, छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम स्थापित होगा. उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली है. गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों को छोड़, राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है. हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते. शिवाजी महराज हमारे नायक हैं.

बता दें कि ताजमहल के पूर्वी गेट पर बन रहे मुगल म्यूजियम में मुगलिया वैभव के साथ छत्रपति शिवाजी महाराज से जुड़ी चीजें और दस्तावेज भी नजर आएंगे. इससे पहले लखनऊ में प्रमुख सचिव पर्यटन जितेंद्र कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में आगरा के पर्यटन अधिकारियों को छत्रपति शिवाजी के लिए म्यूजियम में गैलरी बनाने के निर्देश दिए गए हैं. इस गैलरी में छत्रपति शिवाजी के आगरा से संबंध और यहां से कैद से निकल जाने से जुड़े दस्तावेजों को प्रदर्शित किया जाएगा.

140 करोड़ रुपये की लागत से शिल्पग्राम के पास बनाए जा रहे म्यूजियम में बहुत कुछ अनूठा होगा. यहां जरदोजी, मार्बल इनले कला को समर्पित सेंटर बनाने की तैयारी है, साथ ही क्रूर मुगलों के खिलाफ तमाम हिन्दुस्तानी शूरमाओं के शौर्य व् पराक्रम के इतिहास के अलावा छत्रपति शिवाजी महाराज से जुड़ा इतिहास भी बयां किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here