पहले ईसाई बनो, तभी दिया जाएगा वेतन … मिशनरी स्कूल की प्राचार्य का आदेश

0
280

विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो में ईसाई मिशनरी द्वारा संचालित एक कान्वेंट स्कूल की ग्रंथपाल को सात माह से वेतन नहीं दिया गया था. ग्रंथपाल द्वारा जब स्कूल की प्राचार्य से वेतन मांगा तो उसने कहा कि इसके लिए मतांतरण करना पड़ेगा. हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद स्कूल की प्राचार्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. खबर की जानकारी मिलने तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

बता दें कि खजुराहो के विद्याधर कॉलोनी में ईसाई मिशनरी द्वारा सेक्रेड हार्ट कान्वेट स्कूल संचालित किया जाता है. इस स्कूल में विद्याधर कॉलोनी खजुराहो के निवासी रूबी सिंह ग्रंथपाल पद पर काम करती हैं. स्कूल प्रबंधन द्वारा रूबी सिंह को पिछले सात माह से वेतन नहीं दिया गया था. रूबी सिंह ने स्कूल प्राचार्य सिस्टर भाग्या से मांगा तो उन्होंने मतांतरण का दबाव बनाया.

सोमवार को खजुराहो थाने में रूबी सिंह द्वारा दिए गए शिकायती आवेदन में बताया कि अक्टूबर 2019 से अप्रैल 2020 तक उन्हें स्कूल से वेतन प्राप्त नहीं हुआ है. पति बीमार रहते हैं, उनका इलाज कराना जरूरी है. इस पर उन्होंने स्कूल प्राचार्य सिस्टर भाग्या से वेतन की मांग की तो उन्होंने कहा कि मतांतण करो तो हम तुम्हारा वेतन दे देंगे। वेतन बढ़ा भी देंगे और पति का इलाज भी करा देंगे. इसके साथ ही प्राचार्य सिस्टर भाग्या द्वारा जबरन घर पर झाड़ू-पोंछा का काम भी करवाया. लगातार मानसिक रूप से प्रताड़‍ित कर रूबी सिंह को नौकरी से भी अलग कर दिया.

स्कूल की प्राचार्य सिस्टर भाग्या द्वारा लगातार प्रताडि़त किए जाने और नौकरी से निकाले जाने पर रूबी सिंह ने इस संबंध में जानकारी खजुराहो के विभिन्न हिन्दूवादी नेताओं को दी, जिसके बाद म,मामला पुलिस में पहुंचा. सोमवार को रूबी सिंह द्वारा दिए गए शिकायती आवेदन पर सेक्रेड हार्ट स्कूल की प्राचार्य सिस्टर भाग्या के खिलाफ मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 3 व 5 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. इस संबंध मे खजुराहो थाना प्रभारी संदीप खरे का कहना है कि शिकायती आवेदन पर मामाला विवेचना में लिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here