रिश्वतखोरी: मरीज की मौत के मामले में चल रही जांच को रफा-दफा करने के लिए मांगे पैसे, 5 लाख रुपये देते दो डॉक्टर गिरफ्तार

0
167

 

हरियाणा. फरीदाबाद जिले में सरकारी अस्पताल के दो डॉक्टरों को रिश्वत देते रंगे हाथों विजिलेंस टीम ने गिरफ्तार किया है। मामला मरीज की मौत का है, जिसकी निजी अस्पताल में जांच चल रही है। इस जांच को रफा दफा करने की एवज में ही डील की गई थी। इस डील के तहत 5 लाख रुपये देते हुए दोनों डॉक्टरों को पकड़ा गया। जिनसे पूछताछ करने के बाद दोनों के खिलाफ सेक्टर-17 बैलेंस थाने में भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत केस दर्ज कर लिया गया।

एक आरोपी BK अस्पताल का और दूसरा निजी अस्पताल का संचालक बताया जा रहा है

SGM नगर निवासी नवीन कुमार की मां कुछ महीने पहले बीमार थी। उन्हें चिमनी बाई धर्मशाला के पास स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आरोप है कि अस्पताल की लापरवाही से महिला की मौत हो गई। बेटे नवीन ने आरोप लगाया कि उनकी मां की मौत अस्पताल की लापरवाही से हुई है।

अस्पताल के खिलाफ जांच के लिए CM विंडो और CMO को शिकायत दी थी

CMO ने BK अस्पताल में कार्यरत डॉ. नवदीप सिंघल को इसकी जांच सौंपी थी। अब डॉ. नवदीप और आरोपी निजी अस्पताल के डॉक्टर सुरेश उन पर शिकायत वापस लेने का लगातार दबाव बना रहे है। उन्होंने उन्हें 500000 रुपये बतौर रिश्वत देने की पेशकश भी की। इन्हीं 5 लाख रुपयों को नवीन को देते हुए दोनों डॉक्टरों को पकड़ा गया है।

बताया जा रहा है कि दोनों डॉक्टरों ने पीड़ित नवीन को BK अस्पताल के CMO ऑफिस में बुलाया था और वहीं पर 500000 देने की पेशकश की थी। दोनों डॉक्टरों ने जैसे ही नवीन को पैसे दिए विजिलेंस टीम ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। दोनों डॉक्टरों को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर भेज दिया गया है।

                                                                                                        DEEPAK SHARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here