बीजापुर हमला: नक्सलियों ने जारी कि बंधक जवान की तस्वीर, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि नक्सलियों ने पुरानी फोटो तो जारी नहीं की

0
134

 

बीजापुर. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली मुठभेड़ के बाद से लापता जवान राकेश्वर सिंह मनहास की तस्वीर जारी की गई है. नक्सलियों की ओर से जारी इस तस्वीर के साथ ही दावा किया गया है कि जवान सुरक्षित है. नक्सलियों ने मुठभेड़ के तीसरे दिन कुछ स्थानीय मीडिया कर्मियों और चौथे दिन एक पत्र जारी कर दावा किया था कि लापता जवान उनके कब्जे है. नक्सलियों ने जारी पत्र में लिखा था कि जवान सुरक्षित है और उसे छुड़ाने के लिए सरकार मध्यस्थ नामित करे. इसके बाद बुधवार को नक्सलियों ने जवान की फोटो जारी की और फिर से कहा कि जवान उनके कब्जे में और सुरक्षित है.

जवान की वीडियो या कोई ऑडियो क्लीप जारी करने की अपील की है

नक्सलियों द्वारा जारी फोटो में जवान एक झोपड़ी में बैठा नजर आ रहा है. हालांकि इस फोटो में उसके साथ या आसपास कोई और नजर नहीं आ रहा है. ऐसे में इस बात की आशंका भी जताई जा रही है कि नक्सली कोई पुरानी फोटो तो जारी नहीं कर दिए हैं. लापता जवान के परिजनों ने ही ऐसी आशंका जताई है और उन्होंने जवान की वीडियो या कोई ऑडियो क्लीप जारी करने की अपील की है. बता दें कि तर्रेम मुठभेड़ के बाद कोबरा 210 बटालियन के राकेश्वर सिंह मनहास  लापता हो गए हैं. नक्सली लगातार जवान के उनके कब्जे में होने का दावा कर रहे हैं.

22 जवानों की शहादत
बता दें कि बीते 3 अप्रैल को बीजापुर के तर्रेम थाना क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. इसमें 22 जवान शहीद हो गए. इसके अलावा 31 जवान घायल और 1 लापता हो गए. लापता जवान की तलाश में सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है. हालांकि नक्सली जवान को छुड़ाने को लेकर वार्ता के लिए तैयार होने की बात कह रहे हैं.
                                                                                                  DEEPAK SHARMA

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here