#HathrasCase : खेत में तड़प रही थी पीड़िता, चुप खड़ी थी मां.. फिर पीड़िता को में ही छोड़ चला गया था भाई

0
199

उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले की जांच सीबीआई ने अपने हाथ में ले ली है. हाथरस मामले को लेकर नित नए खुलासे हो रहे हैं, तमाम तरह की बातें सामने आ रही हैं. इस बीच हाथरस घटना का एक चश्मदीद सामने आया है, जिसने मामले को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है. इस चश्मदीद  विक्रम है. विक्रम का दावा है कि वो घटना के दौरान घटनास्थल पर ही मौजूद थे. जानकारी के मुताबिक़, जिस खेत में पीड़िता मिली थी वह खेत इस चश्मदीद का ही है.

चश्मदीद विक्रम सिंह ने कहा है कि जब वह घटनास्थल पर पहुँचे, उस समय लड़की ज़मीन पर पड़ी हुई थी और उसकी माँ और भाई वहीं पर खड़े थे. उन्होंने बताया कि 14 सितंबर की सुबह वह अपने खेत में चारा काट रहे थे, तभी उन्होंने एक लड़की को चीखते हुए सुना. मौके पर पहुँचते हुए उन्होंने देखा कि उनके खेत में एक लड़की गम्भीर अवस्था में पड़ी हुई थी. ठीक वहीं पर पीड़िता का बड़ा भाई और उसकी माँ भी खड़े थे.

चश्मदीद विक्रम ने बताया कि वह पीड़िता की स्थिति देख कर घबरा गए जिसके बाद वो लव कुश और उसकी माँ को इस घटना के बार में बताने के लिए नज़दीक के खेत तक गए. इसके बाद उन्होंने दोनों से घटनास्थल पर चलने के लिए भी कहा लेकिन जब तक वह अपने खेत में वापस पहुँचे, तब तक पीड़िता का भाई घटनास्थल पर मौजूद नहीं था. बताया जा रहा है कि पीड़िता का भाई पीड़िता को खेत में ही तड़पता छोड़कर घर चला गया था.

विक्रम ने देखा कि पीड़िता उसके खेत में ही पड़ी थी और उसकी माँ नज़दीक ही खड़ी थी. विक्रम का कहना है कि वह कुछ समझ पाते, इसके पहले पीड़िता की माँ ने उनसे कहा कि जाओ मेरे बेटे को बुला कर लाओ. चश्मदीद विक्रम मुताबिक़, वह पीड़िता के घर गए और उन्होंने पीड़िता के भाई से कहा कि जल्दी चलो तुम्हारी बहन की हालत गम्भीर है. इसके जवाब पीड़िता के भाई ने कहा कि जब वहाँ पर 5-6 लोग आ जाएँगे तब मैं भी वहाँ पहुँच जाऊँगा.

चश्मदीद विक्रम सिंह ने इस बात की जानकारी भी दी है कि इतना होने के बाद वह अपने घर गए और उन्होंने घर वालों को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी .वहाँ कई और लोग मौजूद थे जिसके बाद घटनास्थल पर गाँव वालों की भीड़ इकट्ठा हुई. यहां पर सवाल खड़ा होता है कि अगर सच में पीड़िता के साथ आरोपियों ने अनहोनी की थी तो आखिर पीड़िता का भाई उसे खेत में ही छोड़कर घर क्यों चला आया था? और जब विक्रम ने उसे घर जाकर बताया कि तुम्हारी बहन तड़प रही है, उसे बचाओ, इसके बाद भी पीड़िता का भाई क्यों खेत पर नहीं गया ? खैर सीबीआई मामले की जांच कर रही है तथा उम्मीद है कि जल्द ही सच सामने आ जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here