भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने की उम्मीद में बांग्लादेश की पीएम

0
217

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना अपनी चार दिवसीय यात्रा पर भारत मे आई हैं. जहाँ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना अपने और भारत के रिश्तो मजबूत करना चाहती है. जिसके लिए शेख हसीना ने शुक्रवार को कहा है कि बांग्लादेश दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. हमें उम्मीद है कि 2041 तक बांग्लादेश एक विकसित देश भी बन जाएगा. उन्होंने ये भी कहा कि भारत के साथ हमारे संबंध काफी अच्छे हैं, और साथ ही व्यापार व निवेश के क्षेत्रों में भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों में एक जोर देने की बात की है. वही भारत-बांग्लादेश बिजनेस फोरम का उद्घाटन करते हुए, हसीना ने कहा, “दो देशों के बीच व्यापार और निवेश बढ़ रहा है. द्विपक्षीय व्यापार की मात्रा भी बढ़ गई है. पिछले वर्षों के दौरान बड़ी तेजी से आर्थिक विकास हुआ है. लेकिन, बांग्लादेश अभी भी भारत के साथ व्यापार संतुलन के पक्ष में है. इसलिए, व्यापार और निवेश के क्षेत्रों में भारत के साथ हमारे संबंधों को गहरा करने की गुंजाइश की है. उन्होंने ये भी कहा कि भारत और बांग्लादेश के बीच संबंध सबसे अच्छे हैं और दोनों देश अपने द्विपक्षीय संबंधों को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे. “हम विश्वास है कि आने वाले वर्षों में, भारत और बांग्लादेश के संबंधो को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे. हमारा सहयोग सुरक्षा, ऊर्जा, कनेक्टिविटी, व्यापार, निवेश, संस्कृति कई क्षेत्रों में फैलाई गई थी.

हसीना ने 1971 के लिबरेशन युद्ध में भारत के योगदान को याद करते हुए बताया की कैसे भारतबंग्लादेश में सहयोग शुरू हुआ. तब से, भारत से हमेशा हमारे संबंधों को निर्देशित किया है. हम गहरी प्रशंसा और आभार समर्थन के साथ याद करते हैंकी कैसे लिबरेशन वॉर के दौरान हमें भारत से जो सहयोग मिला था और आगे बांग्लादेश को स्वतंत्रता की प्राप्त भी करी. वही बांग्लादेश प्रीमियर ने कहा कि उसके देश ने भारतीय निवेशकों के लिए तीन विशेष आर्थिक क्षेत्र की पेशकश की. उसने आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए भारतीय व्यापार नेताओं को बांग्लादेश में निवेश करने के लिए आमंत्रित भी किया. हसीना ने कहा, “बांग्लादेश में 3 एसईजेड में भारतीय निवेशकों के पर्याप्त निवेश से हमारे निर्यात के तरीकों को व्यापक बनाने में मदद मिलेगी. वह शनिवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करने के लिए उम्मीद में है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here