ईदगाह के सामने से निकलते कांवड़ियों पर बरसाए गए पत्थर, गंभीर अवस्था में घायल 4 कांवड़िये अस्पताल में भर्ती

0
1414

खबर के मुताबिक, सिद्धपुर गाँव के कुछ लोग जलाभिषेक करके लौट रहे थे. रास्ते में ईदगाह के पास पुलिस ने उनका डीजे बंद करा दिया था. पुलिस के कहने पर शिवभक्त मान गए और वहां पर डीजे नहीं बजाया और चुपचाप वहां से निकल गए. उनके कुछ आगे निकलने के बाद चुपचाप पीछे से बाइकों और टेंपों पर सवार होकर समुदाय विशेष के दर्जनों लोग आ गए और हमला बोल दिया. दूसरे समुदाय की ओर से किए गए पथराव में चार कांवड़िये घायल हो गए। इनमें से एक की हालत गंभीर बनी हुई है.

अचानक हुए हमले से आक्रोशित शिवभक्त बहजोई रोड पर बैठ गए तथा जाम लगा दिया. सूचना पर इस्लामनगर, बिल्सी समेत तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस के लाख समझाने के बाद भी शिवभक्त रोड से नहीं हटे और नारेबाजी करने लगे. कांवड़ियों का कहना था कि जब तक हमलावर गिरफ्तार नहीं किए जाएंगे तब तक वे लोग नहीं हटेंगे. इसके बाद सूचना पर पहुंचे एसडीएम बिल्सी और एसपी देहात डॉ. एसपी सिंह ने कांवड़ियों पर सख्ती बरतनी चाहीं, तब मामला और गर्मा गया.

कांवड़ियों के आक्रोश को देखते हुए एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी और डीएम दिनेश कुमार सिंह ने संभल जिले के पुलिस बल और पीएसी को बुला लिया. मौके पर एसएसपी संभल यमुना प्रसाद भी पहुंच गए. लेकिन कांवड़ियों ने साफ कर दिया कि उन्होंने पुलिस का सहयोग किया है. पुलिस के कहने पर डीजे बंद कर दिया, फिर भी उन पर हमला किया तथा अब पुलिस भी हमें ही दोषी बता रही है. इसके बाद एसएसपी ने कांवड़ियों को समझाया कि हमलावरों को बख्शा नहीं जाएगा, तथा पहिचान कर जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी. एसएसपी ने कांवड़ियों से न्याय व्यवस्था बनाये रखने का सहयोग मांगा था उन्हें न्याय का भरोसा दिया, इसके बाद कांवड़िये माने. फिलहाल भारी पुलिस पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here