Love Jihad: शीबू ने सचिन बन हिंदू लड़की से की दोस्ती, गोमांस खिलाया, अश्लील वीडियो बना मौलवी को सौंपा, नाकाम रहने पर मारा चाकू

0
764

उत्तर प्रदेश के कानपुर में लव जिहाद का कहर थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है. पिछले कुछ दिनों बड़ी संख्या में जिले से लव जिहाद के मामले सामने आ चुके हैं. इस मामले में मुस्लिम युवक ने हिन्दू नाम से दोस्ती की. प्रेमजाल में फंसाकर अश्लील वीडियो बनाया, जिसके जरिए मुसलमान बनने का दबाया. युवती का धर्म भ्रष्ट करने के लिए गौमांस भी खिलाया. इतना ही नहीं मौलवी संग शारिरिक संबंध बनाने का दबाव भी बनाया. जब आरपी युवक अपने मंसूबे में नाकाम रहा तो पीड़िता पर चाकू से हमला करके उसे घायल कर दिया.

जानकारी के मुताबिक जूही लाल कालोनी निवासी पीड़िता ने बताया कि नौबस्ता थाना क्षेत्र के मछरिया निवासी एक युवक से उसकी मुलाकात 2013 में हुई, उससने अपना नाम सचिन शर्मा बताया था. बातचीत होने से दोनों में दोस्ती हो गयी, करीब एक साल तक बातचीत करते-करते युवक ने उसे अपने प्रेमजाल में फंसा लिया, और 2014 में बहला-फुसलाकर नोएडा भगा ले गया. जहां उसे सेक्टर 67 के मुस्लिम बाहुल्य इलाके में रखा गया.

पीड़िता के मुताबिक युवक के साथ रहने पर उसे हल्का-हल्का कुछ शक हुआ, वहीं एक दिन युवक को पड़ोस की मस्जिद जाते देख लिया तो यकीन में बदल गया और उसके पैरों तले जमीन खिसक गई, जिस लड़के के साथ वह रह रही थी वह कोई हिन्दू सचिन शर्मा नहीं बल्कि मुसलमान शीबू अली है. पीड़िता ने आरोपी से पूछा कि उसकी जिंदगी से खिलवाड़ क्यों किया तो वह भड़क गया और उसके साथ मारपीट.

वहीं जब पीड़िता ने उसकी सच्चाई सबको बताने के बात कही तो जेब से मोबाईल निकालकर उसका अश्लील वीडियो दिखाते हुए शीबू बोला कि अगर तू मुसलमान नहीं बनी तो इसे वायरल कर दूंगा. पीड़िता के मुताबिक इसके बाद शीबू ने उसे कमरे में बंद कर उसका शारीरिक और मानसिक शोषण करने लगा. एक दिन आरोपी पड़ोस की मस्जिद के मौलवी को घर ले आया और उससे कहा कि इसके साथ हमबिस्तर होना है ताकि यह खुश हो जाये, इस दौरान किसी तरह उसने अपना जिस्म बचाया. पीड़िता ने बताया कि आरोपी उसे नकाब बुर्का आदि पहनने का दबाव भी बनाता था.

पीड़िता ने बताया कि एक दिन वह मौका पाकर किसी तरह आरोपी के चंगुल से भाग आई और कानपुर आकर रहने लगी. करीब डेढ़ साल बाद आरोपी कानपुर आया और पीड़िता पर दबाव बनाकर वापस नोएडा ले गया. पीड़िता के मुताबिक आरोपी के परिवार वाले उसके साथ मारपीट करते थे. उनका कहना था मुसलमानी रीति-रिवाज अपनाओ और नकाब और बुर्का वगैरह पहनो, मांस खाना ही पड़ेगा. पीड़िता के मुताबिक आरोपी ने उसका धर्म भ्रष्ट करने के लिए पहले तो चुपके से और बाद में जबरन गोमांस खिलाया.

पीड़िता के मुताबिक, एक दिन मौका पाकर शीबू के घर से भागकर कानपुर आ गयी. करीब 2 साल बाद आरोपी ने उसे बातचीत के लिए बुलाया कहा केवल बात कटनी मैं तुम्हें फिर कभी परेशान नहीं करूंगा, आखिरी बार मिल लो. बीती 14 अगस्त को पीड़िता मिलने साकेत नगर डब्यू ब्लॉक पहुंची तभी वहां घात लगाए बैठे शीबू अली और उसके भाई इरशाद ने चाकू से उसपर हमला कर दिया. इरशाद ने उसे पकड़ लिया और आरोपी ने 4-5 बार चाकू पीड़िता को घोप दिए.

इस दौरान पीड़िता ने मदद के लिए गुहार लगाई तो सामने आते लोगों को देख भाई वहां से भाग गया तथा आरोपी पकड़ा गया. पीड़िता ने इस घटना की शिकायत पुलिस से की, तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया गया है. पीड़िता की मां का आरोप है कि पुलिस ने शीबू अली के खिलाफ के हत्या का केस दर्ज किया है. वहीं इस मामले पर एसपी साउथ दीपक भूकर का कहना है कि जरूरत पड़ी तो इसकी जांच लव जिहाद मामलों के लिए बनी एसआईटी से कराई जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here