आंध्र प्रदेश की एक महिला चीन के वुहान में फंसी, विडिओ के ज़रिये बताये हालात

0
712
Jyoti Annem (File Photo)

आंध्र प्रदेश के कुरनूल ज़िले के कोयलकुंतल मंडल के बिजिनावेमुला गांव की रहने वाली एक महिला चीन के वुहान में फंसी हुई है जिनका नाम ज्योति अन्नेम है. ज्योति का कहना है कि ऐसा उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने के संदेह के चलते किया जा रहा है जबकि अभी तक एक बार भी टेस्ट करके इसकी पुष्टि करने की कोशिश नहीं की गई.

वीडियो में ज्योति कहती हैं, “मैं अब तक हर रोज़ भारतीय दूतावास से बात करती रही और पूछती रही कि घर कब जा पाऊंगी. मुझसे कहा जाता रहा कि चीनी अधिकारियों से बात हो रही है और वो सकारात्मक रुख़ नहीं दिखा रहे.”

ज्योति अन्नेम पिछले साल अगस्त से ही काम के सिलसिले में चीन के वुहान में हैं और अब वहीं फंस गई हैं. पिछले साल वुहान के लिए रवाना होने से पहले उनकी सगाई हुई थी और उनकी शादी अगले महीने होनी है.

अपने वीडियो में ज्योति ने वुहान में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के ख़तरे को लेकर चिंता जताई है. उन्होंने यह भी बताया है कि उनका वीज़ा 19 फ़रवरी को ख़त्म हो रहा है. वो आरोप लगाती हैं कि चीन के प्रशासन की ओर से अभी तक कोरोना वायरस को लेकर उनका टेस्ट नहीं किया गया है और न ही उन्हें निगरानी में रखा गया है.

ज्योति का कहना है कि प्रशासन ने इस संकट को लेकर ज़िम्मेदारी नहीं दिखाई है. वो कहती हैं कि वुहान में वो अभी छात्रावास में ही रह रही हैं.

वीडियो में ज्योति ने भारत सरकार से गुज़ारिश की है कि उन्हें वापस देश लाया जाए. वो कहती हैं कि अगर भारतीय प्रशासन ने उन्हें वहां से निकाल लिया होता तो कम से कम एकांत में रखकर उनका टेस्ट किया जा सकता था कि वो वायरस से संक्रमित हैं या नहीं.

भारत ने वुहान से 645 लोगों को निकाला है और फिर दिल्ली के बाहरी इलाक़े में एकांत में उन्हें रखा है. यहां रोज़ाना उनके स्वास्थ्य की जांच की जा रही है. उनमें से किसी को भी अभी तक कोरोना वायरस से ग्रस्त नहीं पाया गया है.

बीबीसी ने वुहान में भारतीय दूतावास से संपर्क किया ताकि पता लगाया जा सके कि जो भारतीय स्वदेश आने के लिए एयर इंडिया की फ़्लाइट नहीं ले पाए, उनके लिए क्या किया जा रहा है.

अभी तक उनकी तरफ़ से कोई जवाब नहीं आया है और जैसे ही कोई जवाब आएगा, हम इस रिपोर्ट में उसे शामिल करेंगे.

भारत में क्या है कोरोना वायरस की स्थिति जानिए ?

सात फ़रवरी तक भारत में कोरोना वायरस के तीन केस पाए गए हैं. ये दक्षिणी राज्य केरल में मिले हैं जहां पर इसे आपदा घोषित किया गया था. तीनों संक्रमित व्यक्तियों की स्थिति स्थिर बनी हुई है.

छह फ़रवरी को भारत ने कहा था कि 1265 उड़ानों के 1,38,750 यात्रियों को कोरोना वायरस के लिए स्क्रीन किया गया और अभी तक एक भी नया केस नहीं मिला है.

वुहान से निकाले गए सभी 645 लोगों की जांच हो गयी है अभी तक चीन से लौटे किसी भी भारतीय में कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here