शाहीन बाग़ की आड़ में दिल्ली को सीरिया बनाने की रची जा रही थी साजिश? नए खुलासे से मचा हड़कंप

0
65828

क्या शाहीन बाग़ कथित धरना प्रदर्शन की आड़ में देश की राजधानी दिल्ली को सीरिया बनाने की तैयारी थी? क्या मजहबी उन्मादी तथा नक्सली CAA के विरोध की आड़ में देश की राजधानी दिल्ली वह करने की साजिश रच रहे थे जो ISIS के आतंकी सीरिया में कर रहे हैं? क्या देश की राजधानी दिल्ली में पिछले दिनों हुए दंगों के पीछे दुर्दांत आतंकी संगठन ISIS का हाथ था? क्या देश की राजधानी को जलाने की नापाक साजिश आतंकी दल ISIS के इशारे पर रची गई थी? ये सवाल अचानक ही उठने लगा है..

ये सवाल उठा है रविवार 8 मार्च को आईएस से जुड़े एक मुस्लिम पति पत्नी और फिर पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया(पीएफआई) के दिल्ली चीफ दानिश की गिरफ्तारी के बाद. इन तीनों की गिरफ्तारी दिल्ली में हुए दंगों के पीछे बड़ी साजिश का इशारा कर रही है. जामिया इलाके से पकड़े गए आईएस के खुरासान मॉड्यूल से जुड़े दंपती जहांजेब शामी और हिना पर आरोप है कि दोनों पिछले 3 महीने से एक्टिव थे और लोगों को सीएए, सरकार और एक समुदाय के खिलाफ भड़का रहे थे.

वहीं पीएफआई मेंबर दानिश पर आरोप है कि सीएए-विरोधी प्रदर्शनों के दौरान वह झूठी सूचनाएं फैलाकर लगातार लोगों को भड़काने की कोशिश करता रहा और इनकी कोशिश फिदायीन हमला करने की थी. अब ऐसे में सवाल ये है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम CAA के विरोध नाम पर मियां-बीवी का ‘जेहादी प्लान’ क्या था ? क्या थी जामिया नगर से देश को जलाने की साज़िश? क्या था शाहीन बाग़ के पीछे ISIS का ‘मॉड्यूल’? क्या थी शाहीन बाग़ से ‘आतंक का फ़िदायीन’ बनाने की साज़िश?

इस बारे में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने कहा है कि मिली जानकारी के मुताबिक जो बात सामने आई वह यह है कि इन दोनों मियां बीबी का आतंकी संगठन आईएसआईएस से संबंध है और कई लोगों से इस समूह में जुड़े हुए थे. उन्होंने बताया कि जानकारी मिली थी कि जामिया नगर ओखला में एक कश्मीरी कपल रहता है उनका ताल्लुक जो है वह आईएसआईएस के खुरासन प्रोविंस से है. इस जानकारी के आधार पर यहां पर रेड की गई थी. इनके घर से कुछ डाक्यूमेंट्स मिले हैं मोबाइल और लैपटॉप मिले है.

पता चला है कि दोनों काफी शिक्षित हैं. हसबैंड ने बीटेक किया हुआ है, एमबीए किया हुआ है और वाइफ ने भी बीसीए किया हुआ है,एमबीए किया हुआ है. काफी अच्छे से एंप्लॉयड रहे हैं ये और अभी तक जो सामने आया है उसके अनुसार पिछले अगस्त से ये दिल्ली में शिफ्ट हुए हैं. इनके पास से काफी कट्टरपंथी तरीके का साहित्य बरामद हुआ है, जिसमें देश के खिलाफ और बाकी कई सारी कम्युनिटीज के खिलाफ लिखा गया है और जो Anti CAA प्रोटेस्ट है उसको भड़काने की बात लिखी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here