हार्ट अटैक के बाद अस्पताल में भर्ती सौरव गांगुली की करानी पड़ सकती है सर्जरी … फैंस कर रहे जल्द स्वस्थ होने की दुआ

0
197

BCCI के अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को ‘हल्के’ दिल के दौरे के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 48 वर्षीय गांगुली की हालत स्थिर है और वह निजी वुडलैंड्स अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं. सौरव गांगुली को अटैक की खबर आने के बाद क्रिकेट जगत में खलबली मच गई है. क्रिकेट जगत से जुड़े लोग तथा उनके फैंस जल्द दादा के स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं.

ताजा रिपोर्ट्स के अनुसार गांगुली को एक स्टेंट लगाया गया है और उनकी एंजियोप्लास्टी खत्म हो गई है. सर्जरी के बाद अब उनकी हालत बेहतर है. गांगुली को अस्पताल की क्रिटिकल केयर यूनिट CCU में भर्ती कराया गया है. शुक्रवार शाम वर्कआउट सत्र के बाद उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत हुई और आज दोपहर दोबारा ऐसी समस्या के बाद परिवार के सदस्य उन्हें अस्पताल ले गए.

रिपोर्ट के मुताबिक, सौरव गांगुली जिम में वर्कआउट कर रहे थे, ये जिम सौरव गांगुली के घर में ही है. जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह अपने घर के जिम में वर्कआउट करने के दौरान गांगुली को सीने में दर्द हुआ. इसके बाद परिजनों ने उन्हें तुरंत कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में एडमिट कराया.

वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि गांगुली के तीन धमनियों में ब्लॉकेज पाया गया है. इनमें से एक धमनी 90 फीसदी तक ब्लॉक है. सर्जरी के बाद उसकी हालत स्थिर बनी हुई है. डॉक्टर्स अगले कुछ दिनों में दो और स्टेंट प्रत्यारोपित करने पर विचार कर सकते हैं. गांगुली अभी अगले दो दिनों तक अस्पताल में ही रहेंगे. वुडलैंड्स अस्पताल ने बयान जारी करते हुए खुशखबरी दी है, ‘सौरव गांगुली की हालत अब स्थिर है. गांगुली की एंजियोप्लास्टी की गई जिसके बाद दिल की नसों में स्टेंट डाला गया. फिलहाल सौरव गांगुली बिलकुल ठीक हैं. भगवान का शुक्रिया.’

वुडलैंड्स अस्पताल ने सौरव गांगुली का हेल्थ बुलेटिन जारी करते हुए बताया, ”बीसीसीआई अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को अपने घर के जिम में ट्रेडमिल पर दौड़ते समय सीने में तकलीफ का सामना करना पड़ा. उनके परिवार में IHD ØE इस्केमिक हृदय रोग का इतिहास रहा है. जब उन्हें दोपहर एक बजे अस्पताल लाया तो उनका पल्स रेट 70 और 80/130 था. दूसरे क्लिनिकल पैरामीटर्स सामान्य थे. इको से पता चला है कि उनके हृदय में इंफेक्शन हुआ है हालांकि वह स्थिर हैं. उन्हें एंटी प्लेटलेट्स और स्टेटिन की डबल डोज दी गई है और अभी प्राथमिक एंजियोप्लास्टी चल रही है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here