चीन के खिलाफ भारत के सेनापति CDS जनरल बिपिन रावत ने भरी हुंकार, कहा- बातचीत हुई फेल तो तैयार है सैन्य विकल्प

0
474
LAC पर भारत-चीन के बीच जारी तनाव को लेकर भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ CDS जनरल बिपिन रावत ने हुंकार भरी है. जनरल बिपिन रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लद्दाख Ladakh में चीनी सेना की घुसपैठ बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अगर बातचीत विफल रही तो सैन्य विकल्प मौजूद है. सीडीएस रावत ने कहा कि सरकार का प्रयास बातचीत के जरिये इस मुद्दे को सुलझाना है लेकिन पूर्वी लद्दाख में सेनाएं पूरी तरह से तैयार हैं.
CDS जनरल बिपिन रावत ने कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और राष्‍ट्रीय सुरक्षा के जिम्‍मेदार लोग इस कोशिश के साथ सभी विकल्‍पों पर विचार कर रहे हैं कि पीएलए लद्दाख में पहले जैसी स्थिति में लौट जाए. सरकार शांतिपूर्ण ढंग से मामला सुलझाना चाहती है. रक्षा सेवाओं का काम निगरानी रखना और ऐसे अतिक्रमण को घुसपैठ में तब्‍दील होने से रोकना है. अगर LAC पर पूर्वस्थिति बहाल करने की कोशिशें सफल नहीं होती हैं तो सैन्‍य कार्रवाई के विकल्प पर भी विचार किया जाएगा.
जनरल रावत ने कहा कि LAC के साथ हुए बदलाव अलग-अलग धारणाओं के कारण होते हैं. रक्षा सेवाओं पर निगरानी रखने, निगरानी करने और घुसपैठ को रोकने के लिए ऐसे अभियानों को रोकने का काम सौंपा जाता है. किसी भी ऐसी गतिविधि को शांतिपूर्वक हल करने और घुसपैठ को रोकने के लिए सरकार के संपूर्ण दृष्टिकोण को अपनाया जाता है. रक्षा सेवाएं हमेशा सैन्य कार्यों के लिए तैयार रहती हैं, फिर चाहें उसमें एलएसी के साथ यथास्थिति को बहाल करने के सभी प्रयासों का सफल न होना ही शामिल क्यों न हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here